निगम उपायुक्त ने मातहतों से तलब की जानकारी, काफी हाउस में जूता दुकान खोलने की कैसे दी परमिशन

अंकित मिंज

बिलासपुर।

नगर निगम उपायुक्त मिथलेश अवस्थी ने बाजार विभाग के प्रभारी अनिल सिंह से काफी हाउस से संबंधित संपूर्ण दस्तावेज को प्रस्तुत करने का निर्देश दिए हैं। दुकान का निर्माण किस लिए किया गया था। इसे किसने आदेश पर दूसरे को किराए पर दिया गया है। और इतना कम किराया क्यों लिया जा रहा है। पूरी जानकारी सोमवार तक देने का निर्देश दिए हैं। नगर निगम ने कंपनी गार्डन से जमीन में एक दुकान का निर्माण किया था।

इसे कंपनी गार्डन सैर के लिए आने जाने वालों को चाय नास्ते के लिए उद्देश्य से निर्माण किया गया। लेकिन इसको नगर निगम से किराए पर लेकर कमाई का धंधा बना लिया गया है। कांग्रेस नेता अशोक अग्रवाल के पुत्र अभिषेक अग्रवाल को नगर निगम ने इसे 30 साल के लीज पर दिया है। जिसका मासिक किराया 526 रुपए है। नगर निगम की लापरवाही तो देखो बीच मार्केट के जमीन को इतनी कम में किराए पर दिया गया है। खबर प्रकाशित होने के बाद नगर निगम उपायुक्त मिथलेश अवस्थी ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए बाजार विभाग को इसकी जांच करने का निर्देश दिए हैं।

उपायुक्त मिथलेश अवस्थी ने बताया बाजार विभाग से जानकारी मांगी गई है कि दुकान किस नियम के तहत इतने कम किराए पर दी गयी है। इसे नगर निगम से किराए से लेकर दूसरे के कैसे किराए पर दे दिया गया है। अभिषेक अग्रवाल को दुकान दी गयी है, उसकी पूरी जानकारी सोमवार तक मांगी गई है।

जांच में सब कुछ क्लीयर हो जाएगा: नगर निगम के उपायुक्त मिथलेश अवस्थी ने कहा दुकान को किराए पर लेकर दूसरे को किराए पर नहीं दिया जा सकता है। नगर निगम में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। मैने बाजार विभाग से पूरी जानकारी मांगी है। दुकान को कब लीज पर दिया गया है इसके नियम व शर्ते क्या है और किस आधार पर किराया तय किया गया है।

ये दे रहे हैं तर्क: अभिषेक अग्रवाल ने बातचीत के दौरान कहा नगर निगम ने मुझे 30 साल के लीज में दुकान को दिया है, उनसे पूछा गया कि क्या आपको अधिकार है कि इस दुकान को दूसरे को किराए पर दे सकते हैं तो उन्होंने कहा मैं इसे कैसे भी यूज कर सकता है।

advt
Back to top button