निगम ने अटकाया रामकी कंपनी का भुगतान

सफाई ठीक से नहीं करने पर है नाराज

निगम ने अटकाया रामकी कंपनी का भुगतान

रायपुर : डोर टु डोर कचरा कलेक्शन के लिए नगर निगम द्वारा अनुबंधित हैदराबाद की रामकी कंपनी को तब तक भुगतान नहीं किया जाएगा जब तक कि वह पहले चरण में 30 वार्ड के 100 फीसदी घर से कचरा कलेक्शन करके नहीं दिखा देती।

नगर निगम ने शहर की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के उद्देश्य से शहर की सफाई व्यवस्था का जिम्मा रामकी कम्पनी को दिया है , लेकिन कम्पनी सही तरीके से अपना काम नहीं कर पा रही है. ये कोई पहला मौका नहीं है जब रामकी कम्पनी की शिकायत हुई है इससे पहले भी कई जनप्रतिनिधि उनके काम से नाराज है.

इससे पहले भी कई वार्डों में लोगों ने उनके काम को लेकर शिकायत दर्ज कराई है. गौरतलब है कि निगम को प्रति टन कचरे के लिए 675 रुपये भुगतान करना है, जबकि संकरी में प्रोसेसिंग प्लांट लगने के बाद साढ़े 19 सौ रुपये दिया जाएगा।

17 अप्रैल से रामकी ने तीन जोन के 30 वार्डो में काम शुरू किया है, लेकिन न तो निगम के अफसर न ही पार्षद काम से संतुष्ट हैं। मेयर की मानें तो बैठक लेकर रामकी के अफसरों को फटकार लगाई गई है और चार दिन में व्यवस्था दुरुस्त करने का आदेश भी दिया गया है।

Back to top button