परियोजना में फैला भ्रष्टाचार, सुपरवाइजर व स्व सहायता समूह की मिलीभगत से पोषाहार में भी जमकर हो रहा भ्रष्टाचार

ब्यूरो रिपोर्ट::-रितेश गुप्ता पोड़ी उपरोड़ा

पसान- कोरबा जिले में बड़े पैमाने पर रेडी टू ईट के नाम पर भ्रष्टाचार हो रहा है। इसकी भनक तक लोगों को नहीं लग पाती है। मामला है परियोजना महिला एवं बाल विकास विभाग पसान के अंतर्गत सेक्टर अमलीकुंडा का जहाँ सभी आँगनबाड़ी में रेडी टू इट का वितरण नही किया जाता , निर्माण व वितरण के नाम में खानापूर्ति कर लाखो का गबन किया जा रहा है

दरअसल अमलीकुंडा सेक्टर अंतर्गत आंगनबाड़ी में रेडी टू इट निर्माण व वितरण का कार्य माँ लक्ष्मी स्व सहायता समुह बैरा के द्वारा किया जाता हैं. किंतु पिछले कई सालो से बैरा समूह द्वारा रेडी टू इट का निर्माण व वितरण पूरी मात्रा में नही किया जा रहा.

अमलीकुंडा अंतर्गत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताया कि पिछले कुछ वर्षों से रेडी टू इट में भ्र्ष्टाचार की स्तिथि निर्मित हैं .. समुह द्वारा वितरण पूर्ण मात्रा में नही किया जाता …जिसकी जानकारी सेक्टर सुपरवाइजर को होते हुए भी कोई कार्यवाही नही की जाती.

इस संबंध मा लक्ष्मी स्व सहायता समूह बैरा सचिव लीलावती मरावी ने बताया कि रेडी टू इट का निर्माण व वितरण पूरा किया जाता है ,परन्तु कार्य स्थल पिछले कुछ महीनों के वितरण की जानकारी वितरण रजिस्टर में नहीं थी, व गेंहू की बोरी काफी मात्रा भी दिखाई पड़ी.

ततपश्चात गेहूं व वितरण रजिस्टर के सम्बंध में पूछने पर सचिव लीलावती भड़क उठी व अभद्रता पुर्वक शब्दो का प्रयोग करते हुए बोलने लगी कि मीडिया को किसने अधिकार दिया है …..कहते हुए किसी भी प्रकार की जानकारी देने से इंकार कर दिया.

इस सम्बंध में जानकारी हेतु अमलीकुंडा सेक्टर सुपरवाइजर कौशिल्या मेश्राम से संपर्क किया गया किंतु उनसे सम्पर्क नही हो पाया.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button