राज्यहेल्थ

मंगल पांडेय और हर्षवर्धन पर दर्ज़ केस पर कोर्ट ने दिए जांच के आदेश

चमकी बुखार से हो रही मौतों पर गैरजिम्म्मेदाराना रवैय्ये पर दर्ज़ हुआ था केस

पटना: चमकी बुखार से हो रही मौतों पर गैरजिम्मेदाराना रवैय्ये से नाराज़ एक याचिकाकर्ता द्वारा दर्ज़ की गयी याचिका पर आज प्रदेश की CJM कोर्ट ने आज जांच के आदेश दे दिए हैं। केस प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और केंद्र में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन पर दर्ज़ किया गया था। याचिकाकर्ता एक समाजसेवी है।

वहीं बिहार की चमकी बुखार का असर सुप्रीम कोर्ट में भी दिखा। सुप्रीम कोर्ट ने आज इसपर केंद्र और राज्य सरकार से जवाब माँगा है। कोर्ट ने सरकारों से तीन मुद्दे पर हलफनामा दायर करने को कहा है जिसमें हेल्थ सर्विस,न्यूट्रिशन और हाइजिन का मामला है। कोर्ट की तरफ से कहा गया है कि ये मूल अधिकार हैं,जिन्हें मिलना ही चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने सरकारों से पूछा है कि क्या इनको लेकर कोई योजना लागू की गई है। कोर्ट ने अपनी टिप्पणी में कहा है कि यूपी में भी कुछ ऐसी ही स्थिति थी,वहां पर सुधार कैसे आया। अदालत ने इतना कहते ही दोनों सरकारों को दस दिन का समय दिया है।

बता दें की चमकी बुखार का कहर अभी भी जारी है जिससे अबतक पूरे बिहार में 150 से ज्यादा मौते हो चूँकि है। इस मौत से हाहाकार मचा हुआ है। अबतक इसकी कोई वजह स्पष्ट रूप से सामने नहीं आ पा रही है।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: