मनोरंजन

‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ कॉपीराइट मामले में कोर्ट ने 31 जुलाई तक मेकर्स से मांगा जवाब

अक्षय कुमार की ‘स्वच्छ भारत अभियान’ पर आधारित फिल्म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ पर कोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ के मेकर्स को 31 जुलाई तक जवाब देने को कहा है।

जयपुर से ताल्लुक रखने वाले डायरेक्टर प्रतीक शर्मा ने चोरी का आरोप लगाया था। इस मामले में उन्होंने जयपुर मेट्रोपोलिटन अदालत में प्लैन सी स्टूडियोज और वायकॉम18 के खिलाफ कॉपीराइट का केस भी दर्ज कराया है।

प्रतीक ने आरोप लगाया था कि ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ की पंचलाइन और सब्जेक्ट उनकी फिल्म ‘गुटरुं गुटर गूं’ से लिया गया है। कोर्ट ने 22 जुलाई तक जवाब मांगा था लेकिन मेकर्स की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।

एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में प्रतीक ने बताया था, ‘प्लैन सी इस फिल्म को प्रोड्यूस कर रही है और वायकॉम18 इसका वितरण कर रही है।

मेरी फिल्म में एक लाइन है- ‘औरत शादी करके घर में आती है, उसको टॉयलेट नहीं मिलता, बवाल होता है, अंत में पति उसको टॉयलेट बना कर देता है।” प्रतीक का कहना है कि फिल्म में इस्तेमाल हुई इस एक लाइन के लिए उनकी फइल्म के वितरकों कह रहे हैं कि ये ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ जैसी फिल्म है।

प्रतीक अपनी फिल्म दिल्ली इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल, इंडियन फिल्म फेस्टिवल मेलबर्न और राजस्थान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में भी प्रदर्शित कर चुके हैं।

Tags
Back to top button