चपले में शुरू होने जा रहा है 50 ऑक्सीजन बेड युक्त कोविड केयर सेंटर

जिला अस्पताल रायगढ़ में शुरू होगी पोस्ट कोविड ओपीडी,कलेक्टर सिंह ने ली समय सीमा की बैठक

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़, 18 मई2021 : कोरोना संक्रमण की दर में कमी और टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए गांव-गांव में मैदानी अमले के माध्यम से जागरूकता को बढ़ावा देना होगा। इसके लिए ग्राम स्तर के शिक्षक, सचिव, मितानिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से कोविड रोकथाम और टीकाकरण से जुड़ी वास्तविक जानकारी लोगों तक पहुंचानी है। ताकि संक्रमण की दर को नियंत्रित कर न्यूनतम किया जा सके। इससे गंभीर मरीजों की जल्द पहचान करने और मृत्यु दर में कमी लाने में भी सहायता मिलेगी। उक्त बातें कलेक्टर भीम सिंह ने आज समय-सीमा की बैठक में कही। इसके लिए एसडीएम के साथ संबंधित अधिकारियों को अपने ग्राम स्तर के कर्मचारियों के साथ समन्वय कर कार्य करने के निर्देश दिए।

उन्होंने प्रशासन स्तर से की जाने वाली डेथ ऑडिट के अलावा अस्पतालों को अपनी इंटरनल ऑडिट करने के लिए कहा। जिससे गंभीर मामलों के इलाज के लिए नॉलेज शेयरिंग को बढ़ावा मिले। बैठक के दौरान ऑक्सीजन बेड बढ़ाने को लेकर चर्चा की गयी। उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने पिछले दिनों समीक्षा बैठक के दौरान चपले हॉस्पिटल में 50 ऑक्सीजन बेड की सुविधा तैयार करने के निर्देश दिए थे।

कलेक्टर भीम सिंह

कलेक्टर भीम सिंह ने अस्पताल प्रारम्भ करने के कार्यों की समीक्षा करते हुए अगले 1 दिन के भीतर 50 ऑक्सीजन बेड तैयार करने के निर्देश एसडीएम तथा सीएमएचओ को दिए। इसके साथ ही उन्होंने खरसिया सिविल अस्पताल में 50 ऑक्सीजन बेड की सुविधा तैयार करने पाइपलाइन फिटिंग का काम चालू कराने के निर्देश सीएमएचओ को दिए। मेडिकल कॉलेज के ग्राउंड फ्लोर में 100 ऑक्सीजन बेड के लिए चल रहे पाइप लाइन फिटिंग का काम भी जल्द पूरा करने के लिए कहा।

कलेक्टर सिंह ने रायगढ़ नगर निगम क्षेत्र में 24 घंटे संचालित सैंपलिंग सेंटर्स में हमेशा सैंपलिंग की सुविधा मिले इसके निर्देश देते हुए अधिकारियों को इसकी मॉनिटरिंग के निर्देश दिए। कलेक्टर सिंह ने बॉर्डर इलाकों के साथ औद्योगिक क्षेत्रों में जांच की जानकारी ली। उन्होंने उद्योगों द्वारा बनाए गए क्वारेंटीन सेंटर्स और उसमें निवासरत लोगों की जानकारी बनाकर देने के निर्देश उद्योग विभाग के अधिकारियों को दिए।

कलेक्टर सिंह ने बीते दिनों हुई बारिश के चलते फसल क्षति के प्रकरणों की जानकारी ली। बताया गया कि सारंगढ़, रायगढ़ और पुसौर से प्रकरण तैयार कर आपदा एवं राहत शाखा में भेजे गए हैं। यहाँ से आगे की कार्यवाही की जा रही है। कलेक्टर सिंह ने खाद्य अधिकारी से समितियों से धान उठाव की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि 31 मई तक उठाव कार्य पूर्ण करना है।

इस दौरान एडीएम राजेन्द्र कटारा, सीईओ जिला पंचायत डॉ.रवि मित्तल, डीएफओ रायगढ़ प्रणय मिश्रा, डीएफओ धरमजयगढ़  मणिवासगन एस, अपर कलेक्टर  आर.ए.कुरूवंशी, नगर निगम आयुक्त आशुतोष पाण्डेय, सीएमएचओ डॉ.एस.एन.केशरी सहित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

जिला अस्पताल में चलेगी पोस्ट कोविड ओपीडी

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने ब्लैक फंगस के केसेस को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से चर्चा की। मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने बताया कि इसके लिए विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमेटी गठित कर दी गयी है। जो केसेस आने पर इलाज का काम देखेगी। कलेक्टर श्री सिंह ने इसके लिए जरूरी दवाओं की व्यवस्था हेतु सीजीएमएससी से समन्वय करने के निर्देश दिए। उन्होंने पोस्ट कोविड लक्षण वाले व्यक्तियों के लिए जिला अस्पताल में ओपीडी संचालित करने के लिए कहा। मरीजों की मनोवैज्ञानिक हेल्प के लिए उन्होंने साइकियाट्रिक क्लिनिक चलाने के निर्देश दिए।

होम आइसोलेशन का मापदंड पूरा नही करने वाले मरीजों का हॉस्पिटल में होगा इलाज

होम आइसोलेशन रैपिड रिस्पांस टीम के कार्यों की समीक्षा की। होम आइसोलेटेड मरीजों यदि दिशा निर्देश का उल्लंघन करते हैं आउट घर से बाहर निकलते हैं तो उन पर एफआईआर दर्ज करवाने के लिए कहा। उन्होंने फॉलोअप कॉल्स का जवाब नही देने वाले होम आइसोलेटेड मरीजों को तत्काल अस्पताल शिफ्ट करने के निर्देश दिए। होम आइसोलेशन अलॉटमेंट के दौरान क्राइटेरिया के तहत जरूरी व्यवस्थाएं नहीं होने वाले मरीजों को भी अस्पताल में शिफ्ट कर उनका इलाज करने के लिए कहा। होम आइसोलेशन वाले घरों से नियमित कचरे का उठाव करने के भी निर्देश दिए।

नही हो कोई अनट्रेसड पॉजिटिव केस

कलेक्टर  सिंह ने सभी विकासखंडों में टेस्टिंग पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा। उन्होंने रिप्रेजेन्टेटिव सैंपलिंग करने के निर्देश दिए जिससे संक्रमण विस्तार की जल्द पहचान की जा सके। उन्होंने कहा कि आरटीपीसीआर कि रिपोर्ट 48 घंटे और ट्रूनाट की रिपोर्ट 24 घंटे के भीतर देनी है। इस दौरान उन्होंने सभी टेस्टिंग सेंटर्स में टेस्ट कराने वालों के मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन कर नंबर सही तथा चालू स्थिति में है इसकी जांच करने के लिए कहा। जिससे अनट्रेसड पॉजिटिव केसेस की संख्या को घटाकर शून्य करना है। रिपोर्ट मिलने के बाद तत्काल मरीज से संपर्क कर उसका इलाज करना संभव होगा।

टीकाकरण के लिए हेल्प डेस्क से बढ़ाएं पंजीयन

बिना मोबाइल व नेट कनेक्टिविटी वाले हितग्राहियों के कोविड टीकाकरण हेतु पंजीयन के लिए हेल्प डेस्क के संचालन की कलेक्टर  सिंह ने समीक्षा की। जिन विकासखंडों तथा नगरीय निकाय में पंजीयन कम हुए हैं उन पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अधिक से अधिक लोगों को डेस्क की सहायता से पंजीयन करें। जिससे जिले में टीकाकरण को रफ्तार मिलेगी।

समितियों में रखवाएं वर्मी कम्पोस्ट

बैठक में गोधन न्याय योजना पर भी चर्चा की गयी। कलेक्टर सिंह ने गोबर खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट निर्माण व बिक्री की जानकारी ली। उन्होंने पिट से नियमित अंतराल में तैयार कम्पोस्ट को निकालते रहने के निर्देश दिए। कम्पोस्ट बनाने के लिए सूखे पत्ते व आर्गेनिक मटेरियल को डालने के लिए कहा। तैयार कम्पोस्ट की पैकेजिंग कर उसे समितियों में रखवाने के निर्देश दिए। जिससे किसान उसे वहां से क्रय कर सके।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button