मालिकाना हक के विवाद को सुलझाने के लिए गाय को कोर्ट में किया पेश

जासं : राजस्थान में जोधपुर की कोर्ट में मालिकाना हक को लेकर चल रहे अनूठे विवाद को सुलझाने के लिए गाय को कोर्ट में पेश किया गया। पीठासीन अधिकारी मदन चौधरी अपनी कोर्ट से बाहर आए और दोनों फरियादियों को गाय के आसपास खड़ाकर बारी-बारी से गाय को सहलाने और घुमाने का मौका दिया। अब इस मामले में दोनों पक्षों के बयान होंगे और उसके बाद मामला आगे चलेगा। मामले में अगली सुनवाई 15 अप्रैल को होगी।

दरअसल, शिक्षक श्याम सिंह व कांस्टेबल ओमप्रकाश के बीच एक गाय के मालिकाना हक को लेकर अगस्त 2018 से विवाद चल रहा है। मामले में मंडोर थाने में मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद थाना अधिकारी ने अपने स्तर पर इस मामले को सुलझाने के लिए गाय को बीच में खड़ाकर एक तरफ शिक्षक श्याम सिंह और दूसरी तरफ ओम प्रकाश को खड़ाकर गाय को आवाज देने के लिए कहा, लेकिन गाय दोनों की तरफ नहीं गई।

इस पर एक पक्ष ने यह दावा किया कि मेरी गाय जब दूध देती है तो खुद ही दूध पी जाती है। इस पर गाय को मंडोर गोशाला में रखा गया। साथ ही वहां सीसीटीवी कैमरे लगाए गए ताकि यह देखा जा सके कि गाय खुद का दूध खुद पीती है या नही? हालांकि, इससे बात नहीं बनी और मामला कोर्ट तक पहुंचा।

Back to top button