‘यह खिलाड़ी’ आईपीएल नीलामी में साबित हुआ सबसे ज्यादा बदनसीब!

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2018 की नीलामी में कई अनजाने चेहरे रातों-रात करोड़पति हो गए, तो कई सुपर सितारे जमीन पर औंधे मुंह आकर गिरे

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2018 की नीलामी में अफगानिस्तान के 16 साल के ऑफ स्पिनर मुजीब जादरान, विंडीज के 22 साल के जोफ्रा आर्चर सहित कई अनजाने चेहरे रातों-रात करोड़पति हो गए, तो कई सुपर सितारे जमीन पर औंधे मुंह आकर गिरे.

कुछ अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को कोई खरीदादर नहीं मिला, लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा रहा, जो सबसे ‘बदनसीब’ साबित हुआ. वास्तव में यह उसकी बदनसीबी से ज्यादा सिस्टम की शर्मिंदगी रही.

इस नीलामी में बिके कुल 169 खिलाड़ियों में याद नहीं आता कि इनमें से किस खिलाड़ी ने इस दुर्भाग्यशालाी साबित हुए खिलाड़ी से हाल-फिलहाल में बेहतर या इसके आस-पास का प्रदर्शन किया था, लेकिन आठों टीमें में से कोई भी इसके लिए रास्ता नहीं ही निकाल सका.

एक तरफ देश के शीर्ष दस बिजनेसमैनों में से एक कुमार मंगलम बिड़ला के बेटे आर्यमन बिड़ला के लिए दोबारा लगी बोली में रास्ता तैयार कर दिया गया, लेकिन यह उभरता हुआ सीमर सिर्फ हाथ ही मलता रह गया.

आपको याद दिला दें कि करीब एक महीने पहले ही विदर्भ के स्विंग गेंदबाज रजनीश गुरबानी रणजी ट्रॉफी के फाइनल में दिल्ली के खिलाफ हैट्रिक जमाते हुए कुल आठ विकेट लेकर मैन ऑफ द मैच बने थे, तो वहीं सेमीफाइनल में भी उन्होंने कर्नाटक खिलाफ दोनों पारियों में पांच-पांच विकेट लिए थे.

दूसरी पारी में उन्होंने आखिरी पलों में सात विकेट लेकर विदर्भ को सिर्फ पांच रन से जिताकर खुद के बूते फाइनल में पहुंचाया था. चौंकाने वाली और व्यंग्यात्मक बात यह है कि गुरबानी को भारत का अगला भुवनेश्वर कुमार कहा जा रहा है और भुवनेश्वर कुमार आईपीएल के पिछले दो संस्करणों में सबसे ज्यादा विकेट चटकाकर पर्पल कैप लेने वाले गेंदबाज रहे.

advt
Back to top button