इंडियन आर्मी और BSF की जासूसी करने वाला एजेंट गिरफ्तार

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों से भारतीय सेना और बीएसएफ से जुड़ी संवेदनशील जानकारी साझा करने के आरोप में पंजाब के बटाला से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों से भारतीय सेना और BSF से जुड़ी संवेदनशील जानकारी साझा करने के आरोप में पंजाब के बटाला से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. जम्मू-कश्मीर में सैन्य खुफिया इकाई से जुड़े एक अधिकारी ने पंजाब पुलिस को इसकी जानकारी दी थी.

जानकारी के मुताबिक, आरोपी ज्ञानबीर सिंह (21) पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों के साथ संपर्क में है. वह संवेदनशील जानकारी साझा कर रहा है. एसएसपी उपेंद्रजीत सिंह घुमन ने बताया कि सूचना मिलने के बाद पंजाब के शिखर मसियां गांव के रहने वाले ज्ञानबीर को गिरफ्तार कर लिया गया.

बताते चलें कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भारती की जासूसी करने के लिए नए-नए तरकीब इस्तेमाल करता रहता है. इसके लिए वह इंसान से लेकर बेजुबान तक का इस्तेमाल करता है. सीमा पर लगे गांवों में रहने वाले लोगों को पैसे का लालच देकर उनसे जानकारी साझा करता है.

इतना ही जासूसी के लिए कबूतर और बाज तक भेजता है. ऐसा ही एक कबूतर बीएसएफ ने पाकिस्तान सीमा से सटे शाहपुर पोस्ट पर पकड़ा था. इससे पहले भी पाकिस्तान जासूसी के लिए कबूतरों का इस्तेमाल करता रहा है. पाकिस्तान से आए इस कबूतर को बीएसएफ 32 बटालियन ने पकड़ा था.

अमृतसर के शाहपुर में पकड़े गए पाकिस्तानी कबूतर के पंख पर बीएसएफ को दो संपर्क नंबर लिखे मिले हैं, जो पाकिस्तान के बताए गए थे. माना जा रहा है कि पाकिस्तान ने इस कबूतर का इस्तेमाल जासूसी के लिए किया था. इस घटना के बाद सुरक्षा एजेंसियां और चौकस हो गई थी.

नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्तान खुफिया एजेंसियों को गोपनीय सूचना पहुंचाने के लिए इन कबूतरों का इस्तेमाल किया जाना था. हाल ही के दिनों में पाकिस्तानी सेना की ओर से भारतीय जवानों के शव के साथ की गई बर्बरता के चलते दोनों देशों के बीच तनाव गहरा गया है.

1
Back to top button