फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में कैदी की गला दबाकर हत्या

फतेहगढ़: फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में सोमवार को मामूली विवाद के बाद कैदियों के बीच हुए संघर्ष में एक कैदी की गला दबाकर हत्या कर दी गई. बताया जा रहा है कि कैदियों में जुए में हारजीत की रकम को लेकर विवाद चल रहा था.

जिसने सोमवार को हिंसक रूप ले लिया. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है. फर्रुखाबाद के मेरापुर एरिया स्थित नौली गांव निवासी मुंशीलाल यादव के चार बेटे हरभान, वीरेंद्र, मुखराम व सत्यराम हत्या के एक मामले में फतेहगढ़ सेंट्रल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे हैं.

उन्हीं की बैरक में जालौन निवासी अमर सह भी आजीवन कारावास की सजा काट रहा है. सोमवार दोपहर हरभान का अमर सिंह से विवाद हो गया.

मामला बढऩे पर हरभान और उसके भाइयों ने अचानक अमर सिंह पर हमला बोल दिया. मारपीट के बीच अमर सिंह ने हरभान की गर्दन को हाथों से कस लिया.

भाइयों व दूसरे कैदियों ने हरभान को छुड़ाने की कोशिश की. लेकिन, भरसक कोशिश के बावजूद वे हरभान को अमर सिंह की पकड़ से छुड़ाने में सफल न हो सके.

आखिरकार हरभान ने दम घुटने की वजह से मौके पर ही दम तोड़ दिया. घटना के बाद हरभान के भाइयों ने अमर सिंह को फिर घेरकर पीटा.

इसी बीच जेल के बंदीरक्षक वहां पहुंच गए और एक-दूसरे को मार डालने पर आमादा कैदियों को अलग किया. सिटी मैजिस्ट्रेट जेके जैन व इंस्पेक्टर कोतवाली ने सेंट्रल जेल पहुंच जांच की और शव पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया.

कैदियों ने पूछताछ के दौरान बताया क हरभान और अमर सिंह के बीच जुए में तीन-चार सौ रुपये को लेकर विवाद था. दिवाली पर जुए के दौरान हार जीत को लेकर भी मामूली कहासुनी हो चुकी थी.

advt
Back to top button