नव वर्ष के दिन मोतीबाग, गांधी उद्यान, अनुपम गार्डन, कलेक्टोरेट गार्डन समेत कई गार्डनों में भीड़

गांधी उद्यान, ऊर्जा पार्क, नंदनवन, जंगल सफारी, पुरखौती मुक्तांगन में रहेगी लोगों की काफी भीड़

रायपुर: नव वर्ष के दिन मोतीबाग, गांधी उद्यान, अनुपम गार्डन, कलेक्टोरेट गार्डन समेत कई गार्डनों में भीड़ रहेगी। निगम भी उद्यानों की साफ-सफाई में कर्मचारियों का अमला लगा दिया है। बूढ़ा तालाब, मोती बाग, गांधी उद्यान, ऊर्जा पार्क, नंदनवन, जंगल सफारी, पुरखौती मुक्तांगन में लोगों की काफी भीड़ रहेगी।

सख्त निर्देश दिया गया है कि संक्रमण का ध्यान रखते हुए उद्यानों की सफाई का विशेष ख्याल रखा जाए। इसी तरह से समाजसेवी संगठनों की ओर से महिलाएं भी उद्यान में जमा होकर कई आयोजन करने की तैयारी कर रही हैं।

रंगीन फव्वारे आर्कषण के केंद्र :

रायपुर का विवेकानंद सरोवर नए कलेवर में नजर आ रहा है। यहां का रंगीन फव्वारा और रोशनी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र हैं। अभी से यहां लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है। यहां तालाब के केंद्र में पर्यटकों के लिए दिव्य स्वर्गलोक बनाया गया है, जिसे नीलाभ गार्डन कहा जाता है। फव्वारे रंगीन रोशनी छोड़ते हैं और फूल इस बगीचे में मीठी सुगंध हवा में भर देते हैं। तालाब में स्वामी विवेकानंद की 37 फीट की ऊंची प्रतिमा है। रात में विवेकानंद सरोवर चमकता हुआ वंडरलैंड जैसा लगता है।

तीन लाख रुपये से अधिक के बिके गुलाब:

नव वर्ष में सबसे अधिक फूल बाजार में लोगों की चहलकदमी रही। गुरुवार की शाम तक करीब तीन लाख रुपये के गुलाब बिक गए थे। सुबह से लोग प्रियजनों को गुलाब और बुके देने के लिए फूल चौक स्थित फूल बाजार में खरीदारी करने के लिए पहुंच गए थे। फूलबाजार के दुकानदार भी देर शाम तक ग्राहकों का इंतजार करते दिखे। नववर्ष का स्वागत करने के लिए फूल चौक समेत राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित फूल दुकानों में खासी भीड़ रही।

कटोरा तालाब स्थित फूल दुकानदार के अनुसार सबसे अधिक बंगाल से आ रहे गुलाब की मांग रही। गुलाब के बुके की भी खूब खपत रही, गुलाब के बुके की खरीदारी शहर के होटलों, बड़े घरों से आए ग्राहकों ने की। फूल दुकानदारों के अनुसार राजधानी में लगभग 30 हजार गुलाब की बिक्री हुई। एक गुलाब की कीमत दस से पच्चीस रुपये रहे। गुलाब के बुके के साथ मिक्स गुलाब से तैयार नए स्टाइल के बुके को भी काफी पसंद किया गया। लगभग दस हजार बुके की बिक्री हुई है। एक बुके की कीमत 250 से लेकर 500 रुपये तक रही।

इन फूलों की भी रही मांग:

गुलाब फूलों के साथ सेवंती, चंपा, लीली, मोंगरा, जूही, कागड़ा, जार्बरा, एंथोरियन, आर्किड डिलिया आदि फूलों की भी खासी मांग रही। फूल चौक के बड़े फूल कारोबारी रमेश चंदु ने बताया कि इस बार हावड़ा और नागपुर की मंडियों से गुलाब, सेवंती, मोंगरा के फूल आए। थोड़े महंगे जरूर रहे, लेकिन ग्राहकी को ध्यान में रखते हुए आर्डर दो माह पहले ही दे दिया गया था।

सीएम भूपेश सुरक्षाबलों के साथ मनाएंगे नए साल का जश्न:

छत्तीसगढ़ के मुखिया सीएम भूपेश बघेल नए साल 2021 के आगाज का जश्न सुरक्षाबलों के साथ मनाएंगे। जवानों के साथ सीएम भोज भी करेंगे इसके लिए पुलिस ग्राउंड में सुरक्षाबलों के लिए भोज का आयोजन किया गया है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने पुलिस अधिकारियों के साथ भोज की तैयारियों का जायजा लेकर कमियों को पूरा करने आवश्यक निर्देश भी दिए हैं। सीएम भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को नववर्ष की बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

उन्होंने कहा है कि नया वर्ष सभी लोगों के जीवन में सुख, समृद्धि और खुशहाली लाए। मुख्यमंत्री बघेल ने आज यहां जारी अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि राज्य सरकार किसानों, मजदूरों, गरीबों, युवाओं, महिलाओं सहित सभी वर्गों के हित में कार्य कर रही है। नई सरकार ने कोरोना संकट के बावजूद उद्योग, कृषि के क्षेत्र की रफ्तार कम नही होने दी। राज्य सरकार के फैसलों से छत्तीसगढ़ के विकास का पहिया गतिमान रहा।

ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए सुराजी गांव योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना प्रारंभ की गई है, जिनका सकारात्मक असर दिख रहा है। विगत दो वर्षो में छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर को नियंत्रित रखने में सफलता मिली। उद्योग और व्यापार जगत में भी अच्छा वातावरण निर्मित हुआ है। छत्तीसगढ़ को इस अवधि में अनेक क्षेत्रों में राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा गया है।

बघेल ने छत्तीसगढ़ के पूर्वजों की परिकल्पना के अनुरूप अपनी गौरवशाली परम्परा और पहचान को कायम रखते हुए प्रदेश को सभी नागरिकों से गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ के सपने को साकार करने के लिए सक्रिय सहयोग का आव्हान किया है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सभी लोगों के लिए मंगलकामना की है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button