इतिहास में पहली बार गिरकर निगेटिव जोन में पहुंच गईं कच्चे तेल की कीमतें

पहली बार -37.63/बैरल स्तर पर बंद हुआ अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चा तेल का भाव

लंदन/नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से कच्चे तेल के खरीदार नहीं मिल रहे हैं. दूसरे खरीदार स्टोरेज की समस्या के चलते तेल खरीदने के लिए इच्छुक नहीं हैं. कोरोना वायरस के चलते फैसिलिटी यानी औद्योगिक प्रतिष्ठानों/कंपनियों में स्टोरेज लगभग फुल है.

इसलिए भी तेल की मांग में गिरावट देखने को मिल रही है. पूरी दुनिया में फैक्टरी और ऑटोमोबाइल लगभग बंद पड़े हैं. दुनिया के कच्चे तेल के बड़े उत्पादक देशों ने इसके प्रोडक्शन में कटौती का फैसला किया है. यह फैसला इस उम्मीद के साथ लिया है कि बेहतर मांग उत्पन्न हो लेकिन कई विश्लेषकों का कहना है कि यह काफी नहीं होगा.

कच्चे तेल की कीमतें सोमवार को इतिहास में पहली बार गिरकर निगेटिव जोन में पहुंच गईं. अमेरिकी वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चा तेल का भाव गिरकर पहली बार -37.63/बैरल स्तर बंद हुआ. दुनियाभर में घटी कच्चे तेल की मांग के चलते सोमवार को इसकी कीमतें रसातल में पहुंच गई.

Tags
Back to top button