अंधाधुंध जंगलों की कटाई, वन अधिकारी ने किया अपराध पंजीबद्ध

हितेश दीक्षित:

छुरा: गरियाबंद जिले के वनांचल में सघन जंगल अपनी सघनता और जंगली जानवरों के लिए प्रदेश में जाना जाता है। वन अधिकार पत्र की चाह और सुस्त कर्मचारियों के चलते सुरक्षा और देखभाल के अभाव में वनों की दुर्गति हो रही है।

भारत सरकार और प्रदेश सरकार एक ओर वनों की सुरक्षा तथा उनके विकास के लिए सतत प्रयत्नशील है और करोड़ों रुपये विभिन्न योजनाओं के माध्यम से वनों की सुरक्षा एवं देखभाल के लिए भेजे जाते हैं,

पेड़ों की अंधाधुंध कटाई

जंगली जानवरों की मौत होने की जानकारी सामने आते रही है। जिले में बे रोक पेड़ों की अंधाधुंध कटाई के कारण वनों की सघनता और सुंदरता नष्ट हुई है, वहीं दूसरी ऒर वन्य प्राणियों को हम खो चुके हैं।

ग्रामीणों द्वारा लगातार वन अधिकार पत्र और अबैध ईंट भठ्ठा के चलते मनमाने ढंग से वनों की कटाई किए जाने से वनों का घनत्व कम होता चला जा रहा है। जिले के जंगल मनमानी कटाई के कारण सघनता खो चुके हैं।

पैदल चलना दूभर

जिले के इन जंगलों में पेड़ों की सघनता के कारण पैदल चलना दूभर होता रहा है और पग-पग में वन्य प्राणियों का खतरा बना रहता था लेकिन उपरोक्त वनों में पेड़ों की कटाई ने अब वाहनों के आवागमन को भी आसान बना दिया है।

जंगल ठूंठ में तब्दील

ज्ञात हो कि पाण्डुका वनपरिक्षेत्र के कक्ष 101 मुनारा क्रमांक 51 रिजर्व फारेस्ट में जंगलों में लंबे समय से वन अधिकार पत्र की चाह में अबैध कब्जा धारियों द्वारा दिन रात धड़ल्ले से पेड़ों की कटाई करने में लगे हुये हैं। इससे जंगल ठूंठ में तब्दील होते जा रहे थे।

वनपरिक्षेत्र पाण्डुका वन परिक्षेत्र होने के कारण यहां के जंगलों में सबसे ज्यादा अवैध रूप से पेड़ों को काटा जा रहा था। इसके अलावा वन समिति तिलईदादर के अध्यक्ष प्यारे लाल साहू /जगदीश साहू द्वारा अपने पद का दुरुपयोग करते हुये धड़ल्ले से अबैध ईंट भट्टे का संचालन करते रहे है जिनपर आज वनपरिक्षेत्र अधिकारी एस ए अली ने मौके पर पहुंचकर 2चट्ठा लकड़ी और 200नग खुटा जप्त वन अधिनियम 1927 की धारा 52व33 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है,

दूसरी कार्यवाही वन अधिकार पत्र की चाह रखने बाले तिलईदादर निवासी फूलचंद निषाद पर भी अपराध पंजीबद्ध किया गया है। और दर्जनों अबैध ईंट भट्ठे का संचालन खरखरा ,पंडरीपानी जो कि तहसील मुख्यालय से महज 2से3 किलोमीटर की दूरी पर है राजस्व विभाग और खनिज विभाग कुम्भकर्णी निद्रा में लीन है।

इस संबंध में वनपरिक्षेत्र अधिकारी पाण्डुका एस ए अली से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि मुझे मेरे सूचना तंत्र से शिकायत मिली थी कि प्यारे लाल साहू द्वारा अपने खेत पर अबैध ईंट भट्ठा का संचालन करता है इस लिये मौके पर आकर आज लकड़ी बरामद कर वन अधिनियम के तहत प्यारेलाल साहू और फूलचंद निषाद पर कार्यवाही किया गया है।और ईंट भट्ठा के संबंध में माननीया तहसीलदार जी से बात किया हूँ राजस्व की कार्यवाही उनके अधिकार क्षेत्र में है।

1
Back to top button