द रेडियंट वे स्कूल एडवैंचर मामला : सीएस और डीजीपी से आज पैरेंट्स एसोसियेशन मिलेगा

मामला द रेडियंट वे स्कूल में एडवैंचर कैम्प में घायल हुई बच्ची

रायपुर। छत्तीसगढ़ पैरेट्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल के द्वारा प्रेस विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दिया गया है कि द रेडियंट वे स्कूल, आमानाका जिला रायपुर के द्वारा 11 नवंबर 2019 से बिना सुरक्षा उपाय, घोर लापरवाहीपूर्वक और बिना पालक के अनुमति, सहमति के एडवैंचर कैम्प का आयोजन किया गया था, जिसमें 12 नवंबर 2019 को डॉ. सौमित्रा त्रिवेदी की पुत्री कु. कार्तिषा त्रिवेदी जो कि कक्षा चौथी की छात्रा है, गंभीर रूप से घायल हो गई जिसका उपचार चल रहा है।

सरस्वती नगर जिला रायपुर के थाना प्रभारी और विवेचना अधिकारी के द्वारा सिर्फ द रेडियंट वे स्कूल के प्रबंधन को आरोपी बनाया गया है, जबकि ऐसे गंभीर और संवेदनशील मामले में द रेडियंट वे स्कूल के प्राचार्य एंव संचालकगणों और माउंटन मैन (एडवैंचर कंपनी) के मैनेजर एंव संचालक के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज किया जाना चाहिये था, जो नहीं किया गया जिससे पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल पायेगा।

छत्तीसगढ़ पैरेंट्स एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल का कहना है कि इस मामले में आरोपियों, दोषियों को मुचलके में थाने से ही छोड़ दिया गया, क्योंकि जो धारा लगाया है वह जमानती है, जबकि पुलिस को मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार करना चाहिये था, क्योंकि मेडिकल रिपोर्ट में चोट की गंभीरता और घटना की गंभीरता के आधार पर धारा लगाया जाना था जो नहीं किया गया। पुलिस द्वारा जमानती धारा 337 दर्ज किया गया जो उचित प्रतीत नहीं होता है। इस मामले को लेकर पैरेंट्स एसोसियेशन का एक प्रतिनिधि मंडल मुख्य सचिव और डीजीपी से मिलकर सभी दोषियों के खिलाफ तत्काल सख्त कार्यवाही की मांग करेगें।

Tags
Back to top button