मुरार में कर्फ्यू, ग्वालियर में हिंसा, बाड़मेर में झड़प, मेरठ में पुलिस चौकी-2 बसें फूंकीं, पुनर्विचार याचिका दाखिल

SC-ST एक्ट में बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दलित संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद ने ग्वालियर और चंबल क्षेत्र में अप्रिय रूप ले लिया है। कई जगह तोड़फोड़ की घटनाएं हो रही हैं।

ग्वालियर/नई दिल्ली: SC-ST एक्ट में बदलाव पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दलित संगठनों द्वारा बुलाए गए भारत बंद ने ग्वालियर और चंबल क्षेत्र में अप्रिय रूप ले लिया है। कई जगह तोड़फोड़ की घटनाएं हो रही हैं। ग्वालियर के कई इलाकों में तोड़फोड़, पथराव, गोलीबारी और आगजनी की खबरें आ रही हैं वहीं भिंड में भीम सेना ने ट्रेन रोकने के लिए पटरी पर ही डेरा जमा लिया। मुरार में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक ग्वालियर में जगह-जगह हंगामे और तोड़फोड़ की जा रही है। यहां के मुरार इलाके, हजीरा, सदर बाजार, ठाठीपुर सहित कई इलाकों में में भयंकर तोड़फोड़ की खबरें हैं। इतना ही नहीं टोल प्लाजा पर प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों की हवा निकालकर उन्हें पंक्चर कर दिया। इससे गाड़ियां टोल नाके पर ही खड़ी हैं और लम्बा जाम लग गया है

भारत बंद के आह्वान पर देश के अलग-अलग शहरों में दलित संगठन और उनके समर्थक प्रदर्शन कर रहे हैं. कई जगह ट्रेनें रोकी गई हैं. इसके अलावा कुछ शहरों में झड़प की घटनाएं भी सामने आई हैं. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर एससी/एसटी एक्ट में कई बदलाव हुए थे.

केंद्र सरकार पर आरोप लग रहे हैं कि अदालत में इस मामले पर मजबूती से पक्ष नहीं रखा गया. हालांकि, सरकार ने अब इस मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल कर दी है.
मेरठ में दिल्ली-देहरादून हाइवे पूरी तरह से बंद हो गया है. इसके अलावा 2 बसों को भी आग के हवाले कर दिया गया है.

दलित प्रदर्शनकारियों ने मेरठ में कंकरखेड़ा थाने की शोभापुर पुलिस चौकी को फूंक दिया है. इसके अलावा कई वाहनों में भी आग लगाई गई है. बिहार के हाजीपुर में बंद समर्थको ने कोचिंग संस्थान पर हमला किया. इस दौरान कोचिंग संचालकों और बंद समर्थकों के बीच पथराव और मारपीट भी हुई. बंद समर्थकों ने छात्रों की साइकिल और डेस्क बेंच में आग लगा दी. जिसके बाद मौके पर पुलिस अधिकारी पहुंचे.

1
Back to top button