राजनीतिराष्ट्रीय

CWC की बैठक : कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेगी सोनिया गांधी

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नए अध्यक्ष का चुनाव पार्टी के अधिवेशन की बैठक में किया जाएगा.

नई दिल्ली : कांग्रेस कार्यसमिति ने सोनिया गांधी से अगली व्यवस्था होने तक अंतरिम अध्यक्ष बने रहने का अनुरोध किया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है.

पार्टी नेताओं केसी वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला ने कार्यसमिति की बैठक का ब्यौरा देते हुए पत्रकार वार्ता में कहा कि इस संबंध में सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया गया. पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि नए अध्यक्ष का चुनाव पार्टी के अधिवेशन की बैठक में किया जाएगा.

पार्टी प्रवक्ताओं ने पार्टी में सुधार को लेकर 23 नेताओं की चर्चित चिट्ठी के बारे में कहा कि पार्टी ने तय किया है कि अब हमें इसे भूलकर आगे की ओर बढ़ना है.

रणदीप सुरजेवाला ने कहा,

रणदीप सुरजेवाला ने कहा,” उनमें से कई महत्वपूर्ण नेतागण इस कार्यसमिति में शामिल थे और उनकी सहमति से ही पार्टी कार्यसमिति ने सर्वसम्मिति से एक प्रस्ताव पारित किया है.”

हालाँकि पार्टी कार्यसमति के सदस्य पीएल पूनिया ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि बैठक में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की चिट्ठी की बात अख़बार में प्रकाशित होने पर चिंता जताई गई.

उन्होंने कहा,”अपनी बात कह सकते हैं, उसकी स्वतंत्रता है, इनपर चर्चा होनी चाहिए पर वो पार्टी फ़ोरम पर होनी चाहिए ना कि पब्लिक डोमेन में, और ये बात मीडिया में गई इसपर लोगों ने ज़रूर चिंता जताई.”

पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बताया कि कार्यसमिति की बैठक में पार्टी के 52 नेताओं ने हिस्सा लिया. केवल असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई सेहत की वजह से बैठक में हिस्सा नहीं ले सके.

इससे पहले पार्टी की कार्यसमिति की बैठक के दौरान राहुल गांधी के एक कथित बयान को लेकर बड़े नेताओं ने सफ़ाई और खंडन के बयान जारी किए. कांग्रेस नेता ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा है कि राहुल गांधी ने ऐसा बिल्कुल नहीं कहा कि कांग्रेस के जिन नेताओं ने पार्टी में सुधारों के लिए चिट्ठी लिखी है उनकी बीजेपी से सांठ-गांठ है.

राहुल गांधी की इस कथित टिप्पणी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पर पहले कड़ी आपत्ति जताई

ग़ुलाम नबी आज़ाद से पहले पार्टी नेता कपिल सिबल ने राहुल गांधी की इस कथित टिप्पणी पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पर पहले कड़ी आपत्ति जताई और फिर इस ट्वीट को ये कहते हुए वापस ले लिया राहुल गांधी ने ऐसा कुछ नहीं कहा.

दरअसल सोमवार को एक ओर जहाँ पार्टी कार्यसमिति की बैठक चल रही थी वहीं मीडिया में ऐसी ख़बरें चलने लगीं कि राहुल गांधी ने बैठक में चिट्ठी लिखने पर नाराज़गी जताते हुए कहा कि जिन नेताओं ने ये चिट्ठी लिखी उनकी बीजेपी से सांठ-गांठ है.

इसके बाद कपिल सिब्बल ने ट्वीट किया, “राहुल गांधी कहते हैं कि हमारी बीजेपी के साथ मिली भगत है. राजस्थान हाई कोर्ट में कांग्रेस का सफलता पूर्वक बचाव किया. मणिपुर में बीजेपी की सरकार गिराने के लिए पार्टी का बचाव. पिछले 30 साल में कभी भी किसी भी मुद्दे पर बीजेपी के पक्ष में बयान नहीं दिया. फिर भी हमारी बीजेपी के साथ मिली भगत हैं!”

फिर कपिल सिब्बल की इस टिप्पणी को रीट्वीट करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मीडिया में राहुल गांधी को लेकर जो बात कही जा रही है वो बात उन्होंने नहीं कही है.

सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में लिखा है, ”राहुल गांधी ने ऐसा कुछ भी नहीं कहा है. इस संदर्भ में कोई बात नहीं हुई है. कृपया फ़र्ज़ी मीडिया रिपोर्ट से भ्रमित ना हों या फिर ग़लत सूचना न फैलाएं. हाँ, यह ज़्यादा ज़रूरी है कि क्रूर मोदी शासन के ख़िलाफ़ एकजुट होकर लड़ें न कि आपस में ही भिड़ते रहें.”

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button