अंतर्राष्ट्रीयखेलराष्ट्रीय

CWG 2018 : 66 पदकों का रिकॉर्ड, भारत ने रचा इतिहास

21वें कॉमनवेल्थ में शानदार प्रदर्शन के साथ किया अपने अभियान समापन

गोल्डकोस्ट: ऑस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में हो रहे 21वें कॉमनवेल्थ खेलों में शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने अभियान आज समापन किया. 21वें कॉमनवेल्थ खेलों भारत ने इतिहास रच कर कुल 66 पदक अपने नाम किए इससे पहले भारत ने कॉमनवेल्थ खेल 2014 में 64 पदक जीते थे. यह भारत का अब तक के कॉमनवेल्थ खेलों में सबसे शानदार प्रदर्शन रहा हैं.

भारत 21वें कॉमनवेल्थ खेलों के पदक श्रेणी में 66 पदक के साथ तीसरे स्थान पर है. इन में 66 पदकों में 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य पदक शामिल हैं. भारत से आगे इंग्लैंड 136 पदको के साथ दुसरे जबकि 198 पदको के साथ मेजबान ऑस्ट्रेलिया पहले नंबर पर हैं.

कॉमनवेल्थ खेल के आज आखिरी दिन सायना नेहवाल ने ओलंपिक की रजत पदक विजेता पी.वी सिंधु को हरा कर गोल्ड पर कब्जा किया जबकि पी.वी सिंधु को हार के बाद रजत पदक से संतोष करना पड़ा. दोनों के बीच का कड़ा मुकाबला करीब 56 मिनट तक तक चला. जिसमे सायना ने बजी मार कर राष्ट्रमंडल खेलों में दो स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई.

दुनिया के नम्बर-1 भारतीय खिलाड़ी श्रीकांत को फाइनल्स में मलेशिया के ली चोंग वेई से हार कर गोल्ड से हाथ धोना पड़ा, और रजत पदक से संतोष करना पड़ा. जबकि पुरुष डबल्स वर्ग में चिराग और सात्विक कि जोड़ी को रजत पदक जीत इतिहास रचा.

वही भारत के लिए आखरी पदक टेनिस के एकल वर्ग मुकाबले में अचंत शरत ने इंग्लैंड के सैमुएल वॉकर को हरा कर अपने नाम किया. शरथ ने सैमुएल को 4-1 (11-7, 11-9, 9-11, 11-6, 12-10) से हराकर इस मैच को जीता

Summary
Review Date
Reviewed Item
CWG 2018 : 66 पदकों का रिकॉर्ड , भारत ने रचा इतिहास
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *