Cyclone Gulab: चक्रवात गुलाब का लैंडफॉल आज, तूफान की तीव्रता बढ़ी

एनडीआरएफ की टीमें तैनात

हैदराबाद: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने जानकारी दी है कि गुलाब नाम (Cyclone Gulab) का एक चक्रवाती तूफान रविवार शाम को दक्षिणी ओडिशा और उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में दस्तक दे सकता है. इस बीच तूफान की तीव्रता बढ़ गई है और येलो अलर्ट से अपडेट करते हुए ऑरेंज अलर्ट कर दिया गया है. भारतीय मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने कहा कि चक्रवर्ती तूफान के तहत आंध्र प्रदेश और ओडिशा के लिए चेतावनी जारी की गई है. अनुमान जताया जा रहा है कि तूफान गुलाब दक्षिण ओडिशा और उत्तर आंध्र प्रदेश के तटीय इलाके कलिंगापटनम के पास रविवार शाम को लैंडफॉल करेगा. इस दौरान हवाएं 70-80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने के आसार हैं.

समुद्र तटीय इलाकों में तूफान को लेकर जारी येलो अलर्ट को अपग्रेड किया गया है और अब इसे ऑरेंज अलर्ट कर दिया गया है. ऑरेंज अलर्ट में मध्यम से भारी बारिश के लिए चेतावनी जारी की जाती है. जबकि येलो अलर्ट में हल्की से मध्यम बारिश की चेतावनी जारी की जाती है. इस बीच उत्तर-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी पर डीप डिप्रेशन लगभग पश्चिम की ओर बढ़ गया जिससे चक्रवाती तूफान गुलाब तेज हो गया. शनिवार को शाम साढ़े 5 बजे यह चक्रवात उत्तर-पश्चिम और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी से गोपालपुर के लगभग 370 किमी पूर्व-दक्षिण पूर्व में केंद्रित था.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग की ओर से शनिवार रात साढ़े 8 बजे बुलेटिन जारी किया गया जिसमें बताया गया कि डीप डिप्रेशन उत्तर-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ गया और चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (गुल-आब) तेज हो गया. इसके लगभग पश्चिम की ओर बढ़ने और रविवार शाम तक कलिंगपट्टनम और गोपालपुर के बीच उत्तर आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा के तटों को पार करने की संभावना है. इस चक्रवात को गुलाब (Cyclone Gulab) नाम दिया गया है. मौसम विभाग के मुताबिक, ये चक्रवाती तूफान रविवार तक सक्रिय रह सकता है और इसके सोमवार को कमजोर होने की संभावना है.

चक्रवात गुलाब की वजह से पश्चिम बंगाल में भी भारी बारिश होने की संभावना जताई गई है. कोलकाता, हावड़ा, दक्षिण और उत्तर 24 परगना के साथ पूर्वी मिदनापुर में मंगलवार से भारी बारिश का अनुमान है. कोलकाता पुलिस ने तूफान से निपटने के लिए यूनिफाइड कमांड सेंटर नाम से एक कंट्रोल रूम खोला है. सभी थानों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है. भारतीय मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने कहा कि चक्रवाती तूफान के कारण ओडिशा में 25 सितंबर और 28 सितंबर को हल्की बारिश के साथ कई जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है. अगले 2 दिनों तक प्रदेश के कई जिलों में वज्रपात के साथ भारी बारिश के कारण 20 सेंटीमीटर से अधिक बारिश की मात्रा को रिकॉर्ड किया जा सकता है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button