Cyclone Yaas: चक्रवाती तूफान यास ने Bengal में मचाई तबाही

दीघा और शंकरपुर सहित कई तटीय इलाकों में समुंद्र में तेज लहरे उठने लगी हैं और पानी लोगों तटीय इलाकों में घुसने लगा है. ऐसे में राहत बचाव कार्य के लिए भारतीय सेना की 17 टुकड़ियों को उतार दिया गया है.

Cyclone Yaas की पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में एंट्री हो चकी है. इस बाबत तटीय इलाकों में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है.

दीघा और शंकरपुर सहित कई तटीय इलाकों में समुंद्र में तेज लहरे उठने लगी हैं और पानी लोगों तटीय इलाकों में घुसने लगा है. ऐसे में राहत बचाव कार्य के लिए भारतीय सेना की 17 टुकड़ियों को उतार दिया गया है.

वहीं NDRF की टीम भी राहत बचाव कार्य में लगी हुई है. तटीय इलाकों से लगभग 15 लाख लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया जा चुका है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अधिकारियों संग लगातार बातचीत कर रही है और स्थिति का जायजा ले रही है. उन्होंने बताया कि पूर्वी मेदनीपुर में 51 बांध टूट गए हैं और लैंडफॉल शुरू हो चुकी है.

इस बीच कई इलाके पूरी तरह पानी में डूब चुके हैं. चक्रवात के रौद्र रूप को देखते हुए व राहत बचाव कार्य के लिए सेना की 17 टुकड़ियों को उतारा गया है. वहीं NDRF की 45 टीमें भिी मौके पर डंटी हुई हैं.

मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवाती तूफान यास की अधिकतम स्पीड 175 किमी प्रतिघंटा हो सकती है. वहीं जब यास बंगाल में प्रवेश करेगा तब समुंद्र में लहरें 8-12 फीट की ऊंचाई तक उठ सकती हैं.

बता दें कि दीघा में हालात पर काबू पाने के लिए सेना उतर चुकी है. वहीं ज्वार के कारण नामखाना में बांध टूट गया है. वहीं कोलकाता एयरपोर्ट पर हवाई सेवाओं को फिलहाल के लिए रद्द कर दिया गया है साथ ही कई ट्रेनों को भी रद्द कर दिया गया है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button