अस्पताल मंे दबिश, दो डॉक्टर सहित : 14 कर्मचारी अनुपस्थित, शो कॉज नोटिस

बलौदाबाजार : सामुदायिक अस्पताल बिलाईगढ़ में आकस्मिक निरीक्षण में दो डॉक्टर सहित 14 स्वास्थ्य कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। कलेक्टर कार्तिकेया गोयल के निर्देश पर एसडीएम बिलाईगढ़ ने आज सवेरे छापामार शैली में अस्पताल का अचानक निरीक्षण किया।

गैर हाजिर डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों की सेवा समाप्ति, अकार्य दिवस, ब्रेक ईन सर्विस, विभागीय जांच आदि कठोर कार्रवाई के लिए नोटिस थमाई गई है। तीन दिवस के भीतर संतोषप्रद जवाब नहीं पाये जाने पर नियमानुसार कठोर कार्रवाई की जाएगी।

अनुविभागीय दण्डाधिकारी बिलाईगढ़ के.एल.शोरी के नेतृत्व में अधिकारियों की टीम ने आज सवेरे लगभग सवा 9 बजे सामुदायिक अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया। अस्पताल खुलने का समय सवेरे 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक निर्धारित किया गया है। लेकिन अस्पताल खुले सवा घण्टा बीत जाने के बाद भी 14 डॉक्टर एवं कर्मचारी गैरहाजिर पाए गए। इनकी अनुपस्थिति से मरीजों को काफी परेशानी हुई है।

जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य प्रशासन ने उनके इस कृत्य को काफी गंभीरता से लिया है। और उनके पद के अनुरूप विभिन्न स्तरों पर कार्रवाई की जा रही है। दंत चिकित्सक डॉक्टर एन.एल. उपाध्याय और चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश प्रधान के खिलाफ कार्रवाई के लिए राज्य सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग को अनुशंसा की गई है।

उनका एक दिन का अकार्य दिवस के साथ ही ब्रेक ईन सर्विस की कार्रवाई की जाएगी। सीएमएचओ द्वारा अस्पताल के 10 कर्मचारियों को अकार्य दिवस के साथ ही ब्रेक ईन सर्विस के लिए नोटिस थमाई है। इनमें एस.के.देवांगन नेत्र सहायक अधिकारी, गणेश देवांगन एनएमए, मनीष रत्नाकर फार्मासिस्ट ग्रेड-2, विनोद प्रधान लैब टेक्निशियन, मिथलेश साहू ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक महिला,

शैलेश राकेश ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक पुरूष, अमित साहू ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक पुरूष, अविनाश देवांगन ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक पुरूष, महेन्द्र कैवर्त्य वाहन चालक तथा आर.आर. यादव वार्ड व्याय शामिल हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में संविदा आधार पर कार्यरत उमाशंकर साहू लैब टेकनिशियन और अंबिका धु्रव काउंसलर को सेवा समाप्ति के लिए नोटिस जारी किया गया है।

Back to top button