दंतेवाड़ा के शिक्षक अमुजूरी विश्वनाथ बने पीसीआरए के राष्ट्रीय निर्णायक

दंतेवाडा।

जिला के अटल बिहारी वाजपेयी एजुकेशन सिटी में स्थित आस्था विद्या मंदिर अंग्रेजी माध्यम आवासीय विद्यालय के शिक्षक व ईसीए समन्वयक अमुजूरी विश्वनाथ को संरक्षण क्षमता महोत्सव(सक्षम) 2018, पीसीआरए के राष्ट्रीय स्तर का निर्णायक बनाया गया है।

बता दें कि पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ (पीसीआरए), पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में पेट्रोलियम उत्पादों और पर्यावरण संरक्षण व जागरूकता के लिए अखिल भारतीय स्तर पर संरक्षण क्षमता महोत्सव (सक्षम) कार्यक्रम की शुरुआत किया गया है।

जिसमें स्कूल, महाविद्यालय और विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों के साथ-साथ आम नागरिकों को निबंध, चित्रकला और क्विज प्रतियोगिताएँ के माध्यम से सक्षम का प्रेरणा दे रहा है। इस प्रतियोगिता के मूल्यांकन के लिए राष्ट्रीय निर्णायक और संघ का सदस्य के रूप में दंतेवाड़ा जिले से एक मात्र शिक्षक अमुजूरी विश्वनाथ को पीसीआरए, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली के द्वारा लिया किया गया है।

ईंधन कुशल उपकरण को बढ़ावा देने में और पेट्रोलियम संरक्षण के नीतियों और रणनीतियों के लिए प्रस्ताव देने में पीसीआरए, भारत सरकार की मदद करने में सबसे आगे रहा है। ऊर्जा, ईंधन और पर्यावरण संरक्षण की भावना से भारत को विकासशील देश बनाने में समस्त नागरिकों की जिम्मेदारी है।

इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य संतोष प्रधान ने बताया की अंदरूनी क्षेत्र से देश के विशेषज्ञों का प्रतिष्ठात्मक समिति में आस्था के शिक्षक अमुजूरी विश्वनाथ को राष्ट्रीय स्तर निर्णायक रूप से नियमित होना दंतेवाड़ा जिले के लिए गौरव का विषय है।

उप प्रचार्य प्रमोद गुप्ता, सह कर्मचारी अशीम बेपारी, विकास बाईन, ईश्वरी प्रसाद नायक, मिथलेश्वर जैन, बुनिल साहू, क्रिस्टोफर रोड्रिक्स, राजेश धवला, सुमन एक्का, वीरेंद्र मंडावी ने अमुजूरी विश्वनाथ को बधाई दिया है।

1
Back to top button