नया रायपुर में 200 करोड़ की लागत से बनेगा डाटा सेंटर

रायपुर : नया रायपुर के सेक्टर 22 में दस एकड़ क्षेत्रफल में में एक डाटा सेंटर 200 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा। इस डाटा सेंटर में 310 लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। मंगलवार को इस एग्रीमेंट पर नया रायपुर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मुकेश बंसल और पाई डाटा सेंटर के निदेशक कल्याण मुप्पानेनी ने हस्ताक्षर किए। यह डाटा सेंटर 18 महीनों में बनकर तैयार होगा।
पाई डाटासेंटर के निदेशक और मुख्य कार्यपालन अधिकारी कल्याण मुप्पानेनी ने कहा कि अबाधित विद्युत उपलब्धता और निम्न भूकंपीय क्षेत्र होने के कारण डाटासेंटर स्थापना के लिए नया रायपुर आदर्श क्षेत्र है। चिप्स तथा एनआरडीए से मिले सहयोग के कारण इतने कम समय में परियोजना को मूर्त रूप दिया जा सका। उन्होंने राज्य शासन से आईटी निवेश नीति के अनुसार अनुदान दिए जाने के लिए आभार व्यक्त किया। मुम्बई, दिल्ली, कोच्ची, पुणे, बेंगलुरू और अमरावती के पश्चात नया रायपुर में डेटासेंटर की स्थापना कम्पनी को अतिरिक्त क्षमता प्रदान करेगी। पाई डाटासेंटर भारत की पहली ऐसी संस्था है, जो कि अन्य उद्योग विशिष्ट उत्पादों और समाधानों के साथ-साथ पूर्ण रूप से स्वचलित क्लाउड आधारित सेवाएं भी प्रदान करती है।
इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह ने कहा कि पाई डेटासेंटर जैसी प्रसिद्ध संस्था की ओर से अपने अंतरराष्ट्रीय व्यवसाय के लिए छत्तीसगढ़ के नया रायपुर क्षेत्र का चयन करना राज्य के लिए प्रसन्नता का विषय है।
चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एलेक्स पॉल मेनन ने कहा कि डाटा सेंटर के अलावा अन्य अंतरराष्ट्रीय स्तर की कम्पनियां भी राज्य में अपने व्यवसाय की स्थापना के लिए रुचि ले रही है। एनआरडीए के मुख्य कार्यपालन अधिकारी मुकेश बंसल ने कहा कि भारत का पहला ग्रीन फील्ड स्मार्ट सिटी में डाटा सेंटर स्थापना के लिए आवश्यक सभी संसाधन उपलब्ध है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव विवेक ढांड, प्रमुख सचिव वित्त अमिताभ जैन, सचिव खनिज साधन सुबोध कुमार सिंह, सचिव आवास एवं पर्यावरण संजय शुक्ला भी विशेष रूप से उपस्थित थे।

Back to top button