शिवराज सिंह चौहान के एक और मंत्री पर लगा कुर्सी के दुरुपयोग का आरोप

भोपाल: मध्यप्रदेश के कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा पेड न्यूज़ के मामले में आरोपी हैं, ओमप्रकाश धुर्वे, सूर्यप्रकाश मीणा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे. अब शिवराज के राज में ऊर्जा मंत्री पारस जैन पर कुर्सी के दुरुपयोग का आरोप लगा है. ऊर्जा विभाग में ही सोलर प्लांट के लिये जैन पर आरोप है कि उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपनी बेटी और बहू की कंपनी को फायदा पहुंचाया. पारस जैन मध्य प्रदेश सरकार में ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा कैबिनेट मंत्री हैं. आरोप हैं कि उन्होंने अपनी बेटी और बहू की कंपनी इंफिनिट एनर्जी सोल्यूशन्स को ऊर्जा विकास निगम से सोलर प्लांट लगाने के लिए करोड़ों के ठेके दिलवाए हैं. जिसके एक्सक्लूसिव कागज़ात एनडीटीवी इंडिया के पास हैं. आरोप है कि उन्होंने इंदौर डिविजन में रूफ़ टॉप सोलर प्लांट लगाने के लिए मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड यानी (एमपीपीकेवीवीसीएल) इंदौर में कंपनी का इम्पैनलमेंट करवाया.

यही नहीं, इंफ़िनिट एनर्जी सोल्यूशन्स को ठेका देने के लिए पिछले साल 25 जून को जारी ऊर्जा विकास निगम का रिक्वेस्ट फ़ॉर प्रपोज़ल टेंडर रद्द करवा दिया. क्योंकि इसमें उनकी बेटी और बहू की कंपनी शामिल नहीं हो पाई थी. इंफिनिट कंपनी का प्रदेश के सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट में 19 जुलाई 2016 को टिन नंबर का रजिस्ट्रेशन होने के बाद ऊर्जा विकास निगम की ओर से 4 दिन बाद ही यानी 23 जुलाई 2016 को फिर से टेंडर जारी किया, लेकिन इंफिनिट कंपनी के डॉक्यूमेंटस पूरे न होने के कारण निगम को टेंडर को लेट करने के लिए दो बार कॉरिजेन्डम यानी शुद्धिपत्र जारी किए गए.

Back to top button