छत्तीसगढ़

बेटी ने बेटे का फर्ज किया पूरा, मां की अर्थी को दी कंधा व मुखाग्नि, दृश्य देख हर किसी की आंखे नम…

रायपुर: जमाने के साथ सोच में भी परिवर्तन होता है चाहे आप किसी गाँव के हो या किसी महानगर के ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां एक बेटी ने बेटे का फर्ज पूरा करते हुए मां की अर्थी को कंधा व मुखाग्नि दी। यह दृश्य देख वह मौजूद हर किसी की आंखे नम हो गयी।

यह घटना राजधानी रायपुर की है। जहां एक बेटी ने अपनी मां के अंतिम संस्कार की हर रश्मों-रिवाजो को पूरा किया, जो एक बेटा करता है। रायपुर निवासी कुंती परगनिहा की मौत हो गई। जिनका अंतिम संस्कार दलदल सिवनी रायपुर में किया गया।

कुंती परगनिहा की तीन संताने है और तीनों ही बेटियां है, जिनमें से दो बेटीयों की शादी हो चुकी है। व उनकी तीसरी बेटी कुमारी नेहा परगनिहा अपनी मां के साथ रहकर उनकी देख रेख किया करती थी। पिता बीजापुर में अपर कलेक्टर रह चुके है। नौ महीने पहले ही चन्द्रशेखर परगनिहा अपने पद से रिटायर्ड हुए थे।

वहीँ माँ कुंती परगनिहा शंकर नगर स्थित अवंतीबाई सरकारी स्कूल में हेड मास्टर के पद पर पदस्थ थी। माँ कुंती की पिछले कुछ वर्षों से स्वास्थ्य ठीक नहीं था जिसके चलते उन्होंने पिछले साल दिसंबर महीने में में अनिवार्य सेवानिवृत्ति ले ली थी।

तब से कुंती का इलाज चल रहा था। जिसके बाद उनकी मौत हो गयी। मौत के बाद अपनी मां की अंतिम इक्छा को पूरी करते हुए घर की छोटी बेटी नेहा परगनिहा ने मां के शव को घर से श्मसान घाट तक कंधा दिया और मुखाग्नि देकर बेटी होते हुए बेटा होने का सारे फर्ज निभाय।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: