छत्तीसगढ़

समाज सेवा के नये नये तरीके सीखा रही है दावत ए आम

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा रिपोर्टर : प्रणव कुमार

आज से 3वर्ष पहले जो युवा बाहर घूम कर रात ख़राब करते थे अब उन्हें दावत ए आम के नाम से बनाये वाट्सअप ग्रुप में एड कर के रात्रि सेवा के लिये एक्टिव रख रही है दावत ए आम जो लोग जन्मदिन के नाम पे फिज़ूल खर्च करते थे अब वो लोग उस पैसे से गरीबो में खाना बटवाने लगे है

दावत ए आम के संस्थापक शेख अब्दुल मन्नान का कहना है की लोगो को आप बदल नहीं सकते है उनसे काम लेना है तो आपको उनके तरीके को ही बेहतर बता कर उनसे काम लेना होगा इसी को देखते हुए हमने वाट्सअप में एक समूह बनाया और शहर में जो युवा घूमते नजर आते थे उनका नंबर वाट्सअप ग्रुप में डाल कर रखा गया है

रात में किसी भी तरह की इमरजेंसी होने पर एक मैसेज डाला जाता है और टीम एक्टिव होकर काम में लग जाती है इस काम को करने वाले लोगो में शाहरुख अली ,मोन भाई, बबली भाई शानू भाई चिंटू भाई अफ़ज़ल खान आसिफ खान शामिल रहते है

इसी तरह से अलग अलग डिपार्टमेंट बना हूवा है मेडिकल सेवा के लिये मेडिकल स्टूडेंट है जिन्हे दवा से लेकर इलाज की जानकारी है इसी में दूसरे तरफ जो लोग सोसल मिडिया में बने रहते है उनकी भी एक समूह है जिसे नाम दिया गया है DEA गर्ल्स पावर इसमें भी महिलाओ का खास योगदान रहता है जिसमे मुख्य तौर पे काम करने वाले कुछ महिलाओ के नाम इस तरह है

नौशीन परवीन, महजबीन , शादेका अली ,फरहीन चिस्ती ,हमीदा खान ,रुखसार अरुणिमा, हिना ,रूबी ,आरती, रूही अली, नाजो ,स्वाति, रुचिर, सबीहा खान, नाज़िया ,नीलोफर और भी बहोत सारे महिलाओ का एक अलग समूह है जो वक़्त वक़्त में घर बैठे सोसल मिडिया के माध्यम से अपनी सेवा देते रहते है

दावत ए आम के संस्थापक का कहना है की जरुरी नहीं की आप धन से मदद करें या बहोत ज़्यदा टाइम दे आप चाहे तो घर बैठे मदद कर सकते है इस तरह के बहोत सारे स्मार्ट तरीके का इस्तेमाल किया जाता पेड़ पौधे भी लगाते है तो ट्रिप सिस्टम के माध्यम से पानी का गैलेन रखा जाता है जिससे की गर्मी में पानी देने की समस्या भी ना रहे

जानवरो के लिये रात्रि गौ रक्छा अभियान चलाया जाता है जिसमे अब भी रेडियम पट्टा पहनाया जाता है आने वाले समय में दावत ए आम के कुछ खास ड्रीम प्रोजेक्ट है जिसमे काम करने की आवश्य्कता है ऐसी योजना लाया जाएगा जो अब तक छत्तीसगढ़ प्रदेश भर में किसी ने नहीं लाया है

इसी के सांथ कोरोना जैसी संकट में जो खाखी वर्दी में अपना फर्ज़ निभा रहे है अपनी जान जोखिम में डाल कर उन्हें सुपर हीरो के नाम से थैंक्स कार्ड दिया जाता है ताकी उनकी हौसला अफ़ज़ाई हो सके आज का मुख्य काम है

एक छोटी बच्ची अनाबिया के जन्मदिन पर भूके जरुरत मंद लोगो में भोजन बाटने का काम किया गया जिसमे बस स्टैंड रेलवे स्टेशन जगन्नाथ मंदिर शिव मंदिर हनुमान मंदिर चर्च वाले जगह में लोगो में भोजन वितरण किया गया है जिसके लिये बच्ची के लिये दुवा भी किया गया है की जिस तरह उस बच्ची के माँ पिता जी लोगो के बारे में सोचते है उसी तरह सभी बच्चे के माता पिता सोचे तो भूक से मरने वालो की संख्या कम होजाये

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button