केन्‍द्रीय कर्मचारियों तथा पेंशन भोगियों का महंगाई भत्‍ता 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया गया है

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिए गये।

नई दिल्ली: केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने आज सरकारी कर्मचारियों और पेशंन भोगियों का महंगाई भत्‍ता बहाल करने के साथ ही कपड़ा निर्यात को बढ़ावा देने तथा पशुपालन और जहाजरानी क्षेत्र में निवेश को प्रोत्‍सा‍हित करने जैसे कई अहम फैसले किए।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह निर्णय लिए गये। केन्‍द्रीय कर्मचारियों तथा पेंशन भोगियों का महंगाई भत्‍ता 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया गया है। यह इस माह की पहली तारीख से प्रभावी माना जाएगा।

सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने पत्रकारों को यह जानकारी देते हुए बताया कि कपड़ा तथा परिधानों पर केन्‍द्र और राज्‍य की ओर से लगाए जाने वाले करों तथा इनके निर्यात पर लगने वाले शुल्‍क में रियायत जारी रखी गई है। उन्‍होंने बताया कि इसके साथ ही की आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने पशुपालन विभाग तथा डेयरी से जुडी कई योजनाओं के विभिन्‍न घटकों में बदलाव करते हुए पशुधन के लिए 54 हजार करोड़ रूपए से अधिक के विशेष पैकेज को 2021-22 से अगले पांच वर्ष तक लागू करने का फैसला किया है।

उन्‍होंने बताया कि मंत्रिमंडल ने राष्‍ट्रीय आयुष मिशन को जनवरी 2021 से बढ़ाकर मार्च 2026 तक करने की मंजूरी दी है। इससे सरकारी खजाने पर चार हजार 607 करोड़ रूपए से अधिक का बोझ पड़ेगा। श्री ठाकुर ने कहा कि मंत्रिमंडल ने वैश्विक स्‍तर पर जारी होने वाली निविदाओं में हिस्‍सा लेने के लिए देश की जहाजरानी कम्‍पनियों को सब्सिडी देने का भी फैसला किया है। इसके लिए एक विशेष योजना को मंजूरी दी गई है। उन्‍होंने बताया कि न्‍यायपालिका के लिए ढांचागत सुविधाओं के विकास से जुड़ी केन्‍द्र प्रायोजित योजना को भी जारी रखने का फैसला किया गया है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button