धमधा एसडीएम विकास नायक की उपचार के दौरान मौत

लीवर में थी इंफेक्शन की शिकायत

भिलाई. धमधा एसडीएम विकास नायक की मंगलवार को उपचार के दौरान मौत हो गई। एसडीएम विकास नायक ने रायपुर के एक निजी अस्पताल में दम तोड़ा। वर्तमान में वे दुर्ग जिले के धमधा ब्लॉक में एसडीएम के तौर पर पदस्थ थे। पिछले कई दिनों से वो बीमार चल रहे थे।

कुछ दिन पहले ही उन्हें लीवर में इन्फेक्शन की शिकायत हुई थी। जिसके बाद उन्हें रायपुर के एक निजी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। अस्पताल में इलाज के दौरान ही विकास की आज मौत हो गई। 12 जुलाई 1988 को जन्मे विकास नायक पीएससी में टॉप 10 में थे।

उनकी पहचान कुशल नेतृत्व के प्रशासनिक अधिकारियों के रूप में थी। महज ३५ साल में दुनिया को अलविदा कहने वाले विकास ने 12वीं तक बलौदाबाजार में पढ़ाई की। इसके बाद डेंटल कालेज रायपुर से बीडीएस की पढ़ाई की थी। रायपुर के मांढर स्थित गिरौद गांव के रहने वाले विकास नायक ने 2016 में डिप्टी कलेक्टर के रूप में ज्वाइनिंग की थी।

कलेक्टर ने जताया शोक : एसडीएम विकास नायक की पोस्टिंग कुछ समय पहले ही धमधा ब्लॉक में हुई थी। उन्हें एसडीएम का पदभार सांैपा गया था। युवा अधिकारी की मौत से जिले के प्रशासनिक अमले में शोक की लहर है। दुर्ग कलेक्टर उमेश कुमार अग्रवाल व एडीएम संजय अग्रवाल ने शोक व्यक्त किया है।

Back to top button