छत्तीसगढ़

बिजली के तार में फंसकर युवक की मौत

पुरषोत्तम पुरोहित

अंबिकापुर. बिजली के तार में फंसकर आज एक युवक की जीवन लीला समाप्त हो गई. प्राप्त जानकारी के अनुसार सीतापुर निवासी उमाशंकर(24 वर्ष) सुबह अपने घर से लकड़ी बीनने के लिए के लिए निकला था. पास ही भुवन कंवर किसान के खेत में सूअर के आंतक से बचने के लिए तार का जाल बिछा हुआ था.

इन तारों में लगातार विधुत धारा प्रवाहित हो रही थी. सुबह कम उजाला होने की वजह से उमाशंकर को तार नज़र नहीं आया और वह उन तारों के चपेट में आ गया. करेंट लगने से कुछ ही मिनटों में उसने अपने प्राण त्याग दिए.

उमाशंकर अपने माता-पिता की एकलौती संतान थी. उसके चले जाने के बाद माता-पिता की हालात बेहद ख़राब है. पिता मनबोध माझी ने जब अपने बेटे की लाश देखी तो उसे एक-बरगी यकीन नहीं आया, वहीं माँ भी अपने बेटे के खोने के गम में बेशुध सी हो गई है.

बताया जा रहा है की मृतक की सीतापुर व्यवहार न्यायालय में आज पेशी होनी थी, चूँकि उसके पास वकील को देने के लिए पैसे नहीं थे, इसलिए वह सुबह ही काम पर निकल गया ताकि लकड़ी बेचकर कुछ पैसे जूता सके.

एक मात्र संतान के चले जाने के बाद घर में मायूसी का वातावरण बना हुआ है और उनके अभिभावक के सामने जीवनयापन की समस्या भी उठ खड़ी हुई है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
विधुत धरा
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *