अंतर्राष्ट्रीयहेल्थ

पुर्तगाल में एक हेल्थ वर्कर के Pfizer वैक्सीन लेने के 48 घंटे के भीतर मौत

41 वर्षीय हेल्थ वर्कर सोनिया असेवेडो की अचानक ही हो गयी मौत

लिस्बन:पोर्तो शहर के Portuguese Institute of Oncology में काम कर रहीं 41 वर्षीय हेल्थ वर्कर सोनिया असेवेडो के Pfizer वैक्सीन लेने के 48 घंटे के भीतर मौत हो गई. उनमें वैक्सीन का शॉट लेने के बाद किसी तरह के साइड इफेक्ट भी नज़र नहीं आए थे. हालांकि उनकी मौत अचानक ही हो गयी.

फिलहाल सोनिया की ऑटोप्सी की गयी है और मौत की वजह सुनिश्चित की जा रही है. ब्रिटेन के बाद फिनलैंड और बुल्गारिया में भी अमेरिकी कंपनी फाइजर की कोरोना वैक्सीन का साइड इफेक्ट के मामले सामने आए हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक उन्हें कोई भी गंभीर बीमारी या साइड इफेक्ट नहीं था और वे स्वस्थ बतायी जा रहीं हैं. सोनिया के पिता अबिलियो असेवेडो ने पुर्तुगाल डेली अखबार से कहा कि वह एकदम ठीक थी, उसे कोई स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत नहीं थी.

उसे कोविड के लक्षण नहीं थे और एक ही दिन पहले उसे कोरोना वैक्सीन दी गयी थी. मुझे नहीं पता उसे क्या हुआ है बस मुझे जवाब चाहिए कि उसकी मौत कैसे हुई. बता दें कि सोनिया दो बच्चों की मां भी थीं.

पुर्तगाल इंस्टीट्यूट ऑफ़ ऑनकोलॉजी ने बयान जारी कर बताया है कि सोनिया को 30 दिसंबर को वैक्सीन दी गयी थी और 1 जनवरी को उनकी अचानक मौत हो गयी. सोनिया में वैक्सीन लेने के बाद साइड इफेक्ट नज़र नहीं आए थे. मौत के कारणों का पता लगाया जा रहा है, हालांकि सोनिया के हेल्थ रिकॉर्ड के मुताबिक वे स्वस्थ थीं.

उधर फिनलैंड के बाद अब बुल्गारिया में अमेरिकी कंपनी फाइजर की कोरोना वैक्सीन का साइड इफेक्ट के मामले सामने आए हैं. ड्रग एजेंसी के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर बॉग्डन किरिलोव ने सोमवार को बताया कि 4 लोगों में वैक्सीन के साइड इफेक्ट देखे गए. जिन लोगों में वैक्सीन के साइड इफेक्ट देखे गए, उनमें से दो को दर्द और दो में सुस्ती और तापमान में वृद्धि की परेशानी देखी गई.

इससे पहले फिनलैंड में भी पांच लोगों में गंभीर साइड इफेक्ट देखने को मिले थे. फाइजर को वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने भी पूरी दुनिया में इमरजेंसी यूज के लिए अप्रूव कर रखा है. ब्रिटेन में भी दो हेल्थ वर्कर में इस वैक्सीन के प्रति साइड इफेक्ट के गंभीर लक्षण देखने को मिले थे. इसके बाद दुनिया भर में फाइजर ने एलर्जी से जुड़े मरीजों के लिए कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल संबंधी एडवाइजरी भी जारी की थी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button