20 लाख किसानों का ऋण माफ, किसानों के जीवन में खुशहाली से छत्तीसगढ़ समृद्ध राज्य बनेगा: बघेल

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज मुंगेली जिले के जरहागांव में आयोजित पिछड़ा वर्ग और किसान सम्मेलन में सुराजी गांव योजना की शुरूआत की। इस योजना के तहत जिले के 15 स्थानों में गोठानों का शिलान्यास भी किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सही मायनों में समृद्ध राज्य तब बनेगा, जब किसानों के जीवन में खुशहाली आएगी।

किसानों को उनके उपज का वाजिब दाम और बेरोजगारों को काम दिलाने की दिशा में सरकार अनेक फैसले ले रही हैं। गांवों में खेती-किसानी को मजबूत बनाने के लिए सुराजी गांव योजना की शुरूआत की गई हैं। इस योजना में छत्तीसगढ़ की चार-चिन्हारी नरवा, घुरवा, गरूवा और बाड़ी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों को कर्ज के कुचक्र से मुक्ति दिलाने के लिए 20 लाख किसानों के 10 हजार करोड़ रूपए के ऋण माफ किए है। इनमें सहकारी समिति और ग्रामीण बैंकों के माध्यम से छह हजार करोड़ और राष्ट्रीयकृत बैंकों से अल्पकालिन कृषि ऋण शामिल हैं।

मुख्यमंत्री बघेल ने जरहागांव के मिनी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि गांवों में नरवा को जीवित रखने की जरूरत है। जल संचयन एवं संवर्धन हेतु छोटे स्ट्रक्चर, बोल्डर चेक डेम को बढ़ावा दिया जायेगा। इससे पानी रिचार्ज होगा और भू-गर्भ जल में वृद्धि होगी।

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गौ रक्षा के लिए पक्का गोठान बनाया जायेगा। वहां पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था होगी, गोठान में सामुदायिक आधार पर बायो गैस प्लांट, कम्पोस्ट खाद बनाया जायेगा, इससे लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि जंगलों में फलदार पौधे, साग-सब्जी के बीज का छिड़काव कराया जाएगा।

इससे जंगलों में जैविक फल एवं सब्जियां स्वाभाविक रूप से उत्पादित होगी। इससे ग्रामीणों की आमदनी में वृद्धि होगी तथा जंगली जानवरों का पलायन गांव की तरफ नहीं होगा। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि देश में छत्तीसगढ़ किसानों से 2500 रूपये क्विंटल में धान खरीदने वाला पहला राज्य है।

हमारी सरकार अब प्रति व्यक्ति सात किलो चावल की जगह हर परिवारों को 35 किलो चावल देगी। इसी प्रकार 400 यूनिट तक का बिजली बिल आधा आयेगा। इसका लाभ एक मार्च 2019 से उपभोक्ताओं को मिलना शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर छत्तीसगढ़ अपाक्स द्वारा प्रकाशित कैलेण्डर का विमोचन भी किया।

कार्यक्रम में राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा ने कहा कि सुराजी गांव योजना के अंतर्गत नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी को अमलीजामा पहनाया जाना है। उन्हांेने सांसद मद से कनौजिया समाज के सामुदायिक भवन हेतु पांच लाख रूपये देने की घोषणा की।

इस अवसर पर जिला पंचायत की अध्यक्ष कृष्णा बघेल, नगर पालिका की अध्यक्ष सावित्री सोनी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष शत्रुहन चंद्राकर, पूर्व विधायक चुरावन मंगेशकर सहित अनेक जनप्रतिनिधि, जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

Back to top button