आप के साथ दिल्ली में गठबंधन पर फैसला जल्द: कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस हरियाणा और पंजाब में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। पार्टी का कहना है कि इन दोनों राज्यों में कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ेगी और उम्मीदवारों के नाम का ऐलान जल्द कर दिया जाएगा। हालांकि, दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन पर तस्वीर एक-दो दिन में साफ हो सकती है। दिल्ली में आम आदमी पार्टी से गठबंधन में कांग्रेस ने कम से कम तीन सीट मांगी है।

पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा और पंजाब में आम आदमी पार्टी सहित किसी राजनीतिक दल से कोई गठबंधन नहीं होगा। पार्टी बहुत जल्द अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर देगी। जहां तक दिल्ली का सवाल है, थोड़ा इंतजार कीजिए। जब कोई निर्णय होगा, सूचित कर दिया जाएगा। पार्टी के एक नेता ने कहा कि फैसले में एक-दो दिन का वक्त लग सकता है।

दरअसल, सियासी हलकों में इस तरह के कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस दिल्ली के साथ हरियाणा में भी आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन कर सकती है। पर रविवार को पार्टी ने साफ कर दिया कि आम आदमी पार्टी के साथ सिर्फ दिल्ली में गठबंधन हो सकता है। हरियाणा या पंजाब में वह आम आदमी पार्टी को कोई सीट देने के लिए तैयार नहीं है। पिछले चुनाव में आम आदमी पार्टी के पंजाब से चार सांसद जीते थे। हालांकि, तीन सांसदों ने बाद में खुद को अलग कर लिया था।

एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि कांग्रेस ने दिल्ली में गठबंधन के लिए आम आदमी पार्टी को आखिरी फार्मूला दे दिया है। इसके तहत पार्टी ने तीन सीट पर दावेदारी जताई है। पार्टी का कहना है कि अगर इन सीट पर बात नहीं बनती है, तो कांग्रेस सभी सात सीट पर अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर सकती है। इसके लिए पार्टी ने सभी सीट पर संभावित उम्मीदवारों का पैनल भी तैयार कर लिया है।

Back to top button