रानी मंदिर में दीपावली, गौरी-गौरा, मांतर पूजा संपन्न

छुईखदान।

रियासत कालीन प्राचीन रानी मंदिर समिति के संरक्षक लाल जे.के.वैष्णव ने जानकारी दी की रानी मंदिर में धनतेरस से दीपावली पर्व पर मंदिर परिसर को चारों तरफ से दीप जलाकर रौशनी से जगमग किये एवं माॅ लक्ष्मी जी की विधिवत पूजा की गयी।

दुसरे दिवस भगवान लक्ष्मीनारायण जी की पूजा पश्चात् गोवर्धन पूजा के अवसर पर अन्नकूट में विभिन्न व्यंजनो का भोग लगाकर प्रसाद वितरण हुआ।

छत्तीसगढ़ी धार्मिक संस्कृति पर्व पर भगवान शंकर पार्वती, गौरी-गौरा की मिट्टी की मूर्ति को रंगबिरंगी कागज फूलो से सजाकर महिलाओं के सिर पर रखकर राज परिवार के सदस्य शिवेन्द्र किशोर वैष्णव, जितेन्द्र किशोर वैष्णव द्वारा पूजा-अर्चना पश्चात् बाजे-गाजे के साथ गौरी-गौरा गीत की प्रस्तुति सहित शोभा यात्रा द्वारा नगर भ्रमण पश्चात विर्सजन किया गया। डिपरापारा वार्ड नं. – सात की महिला शांति निषाद, कमला, रधिया यादव, पुसई साहू, पुनिता यादव, पार्वती यादव, केवरी, गायत्री, आदि महिलाऐं द्वारा गीत एवं नृत्य की प्रस्तुति से शोभा यात्रा हुई।

जमात जगन्नाथ मंदिर परिसर में माॅ लक्ष्मी जी की मूर्ति स्थापित रही एवं मांतर पूजन गाय – बछड़े का खेल कार्यक्रम हर्षोल्लास से संपन्न हुआ। प्रेरणा क्लब के अशोक चंद्राकर, शरद डब्बू श्रीवास्तव, पत्रकार नीलम वैष्णव, महेन्द्र सिंह ठाकूर, सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिकगण कार्यक्रम की सराहना करते हुए उपस्थित रहे।

Tags
Back to top button