तखतपुर में गहराया जल और बिजली संकट, स्वास्थ्य सेवा भी बदहाल

भरत ठाकुर

बिलासपुर। जिला मुख्यालय से लगे तखतपुर विधानसभा क्षेत्र में आज भी खेती ही एकमात्र रोजगार है। अधिकांश आबादी एक फसलीय खेती करती है। पिछले कुछ सालों में क्षेत्र सब्जी उत्पादन का बड़ा हब बन गया है।

यहां की सब्जियां आसपास के कई बड़े शहरों में जाती है। रोजगार का दूसरा साधन नहीं होने की वजह से फसल कटने के बाद किसान दूसरे राज्यों में पलायन कर जाते हैं। यह समस्या पिछले कुछ सालों में बढ़ी है।

विकास के नाम पर ग्रामीण क्षेत्रों में केवल सड़कों का निर्माण हुआ है। तखतपुर नगर पालिका इस मामले में भी कमजोर साबित हो रही है। नगर की ज्यादातर सड़कें खस्ताहाल हैं।

सर्वाधिक व्यस्त गौरव पथ तो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया। लोकार्पण से पहले ही गौरवपथ उखड़ गया, जिसकी मरम्मत तक नहीं हो सकी है, जबकि इसी मार्ग से विधायक आना-जाना करते हैं। पेयजल भी बड़ी समस्या है। इसके लिए कोई ठोस काम नहीं हुआ है। नतीजतन गर्मी में पानी की कमी को लेकर लोग खासे नाराज रहते हैं।

स्वास्थ्य सुविधाओं में भी यह विधानसभा क्षेत्र पिछड़ा है। केवल एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है, जहां अव्यवस्थाओं का आलम है, इसलिए लोग सरकारी के बजाय, निजी अस्पतालों में इलाज कराने के लिए मजबूर हैं।<>

new jindal advt tree advt
Back to top button