बढ़ेगी Indian Navy की ताकत, 6 Submarine को मंजूरी

चीन (China) के बढ़ते नौसैनिक कौशल के साथ अंतर को कम करने के लिए भारत (India) ने यह निर्णय लिया गया है. 'पी-75 इंडिया' नाम के मेक-इन-इंडिया प्रोजेक्ट के तहत भारतीय नौसेना (Indian Navy) को 6 एडवांस्‍ड सबमरीन मिलेंगी, जो डीजल-इलेक्ट्रिक बेस्ड होंगी.

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने अपनी समुद्री ताकत को बढ़ाने के मकसद से भारतीय नौसेना (Indian Navy) के लिए 6 एडवांस्‍ड सबमरीन (Submarines) के निर्माण के लिए मंजूरी दे दी है, जिसकी लागत करीब 43000 हजार करोड़ रुपये होगी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में शुक्रवार को हुई एक बैठक में इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दी गई.

चीन (China) के बढ़ते नौसैनिक कौशल के साथ अंतर को कम करने के लिए भारत (India) ने यह निर्णय लिया गया है. ‘पी-75 इंडिया’ नाम के मेक-इन-इंडिया प्रोजेक्ट के तहत भारतीय नौसेना (Indian Navy) को 6 एडवांस्‍ड सबमरीन मिलेंगी, जो डीजल-इलेक्ट्रिक बेस्ड होंगी.

सरकारी सूत्रों ने बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद (DAC) ने इस प्रोजेक्ट को अनुमति दी. डीएसी खरीद संबंधी निर्णय लेने वाली रक्षा मंत्रालय की सर्वोच्च संस्था है. सूत्रों ने बताया कि पनडुब्बियों के विनिर्देशों और महापरियोजना के लिए रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (RFP) जारी करने, जैसे अन्य महत्वपूर्ण कार्यों को रक्षा मंत्रालय और भारतीय नौसेना के अलग-अलग दलों ने पूरा कर लिया है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button