दिल्ली: महिला अफसर ईनम गंभीर का मोबाईल छीनकर बाइक सवार फरार

हर रोज चोरी और झपटमारी की वारदात होती है, लेकिन ये मामला थोड़ा गंभीर है. इस बार किसी आम शख्स के साथ नहीं, बल्कि दुनिया में हिन्दुस्तान का नाम ऊंचा करने वाली विदेश सेवा की वरिष्ठ महिला अफसर के साथ झपटमारी की वारदात हुई है.

दिल्ली: महिला अफसर ईनम गंभीर का मोबाईल छीनकर बाइक सवार फरार

दिल्ली: हर रोज चोरी और झपटमारी की वारदात होती है, लेकिन ये मामला थोड़ा गंभीर है. इस बार किसी आम शख्स के साथ नहीं, बल्कि दुनिया में हिन्दुस्तान का नाम ऊंचा करने वाली विदेश सेवा की वरिष्ठ महिला अफसर के साथ झपटमारी की वारदात हुई है. रोहिणी में महिला अफसर ईनम गंभीर का मोबाईल छीनकर बाइक सवार फरार हो गए.

संयुक्त राष्ट्र के भारत के स्थायी मिशन की प्रथम सचिव ईनम गंभीर छुट्टियां बिताने के लिए रोहिणी सेक्टर 7 स्थित अपने घर आई हुई हैं. 23 दिसंबर की शाम को वह अपनी मां के साथ घर से बाहर टहलने के लिए निकली थीं. उसी वक्त दो लोग बाइक पर सवार होकर वहां आए. ईनम और उनकी मां से मंदिर जाने के लिए दोनों रास्ता पूछने लगे.

बताया जा रहा है कि बाइक सवारों को रास्ता बताने के लिए जैसे ही ईनम ने अपना हाथ उठाया, बदमाश उनके हाथ से आईफोन छीनकर फरार हो गए. उस वक्त अंधेरा गहरा रहा था, इसलिए ईनम और उनकी मां बाइक का नंबर नहीं देख पाए. वारदात के बाद उन्होंने तुरंत पुलिस को सूचित किया. पुलिस मौके पर पहुंच गई, लेकिन बदमाश गायब थे.

डीसीपी रजनीश गुप्ता ने बताया कि दी गई तहरीर के आधार पर पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 356, 379 और 34 के तहत केस दर्ज कर लिया है. इलाके में मौजूद सभी सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं. इस मामले की जांच के लिए पुलिस की कई टीमों का गठन किया गया है. पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई है.

कौन हैं ईनम गंभीर?

ईनम गंभीर भारत की युवा डिप्लोमैट और संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत के स्थाई मिशन की पहली सचिव हैं. बीते दिनों यूएन में दिए उनके भाषण ने सबका ध्यान खींचा था. वह दिल्ली के रोहिणी की रहने वाली हैं. उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ जेनेवा से अपनी पढ़ाई पूरी की है. 2005 में उन्होंने IFS की परीक्षा पास की थी. 2008 में अर्जें‍टीना में सेकंड सेक्रेटरी बनीं.

कई भाषाओं में पकड़

ईनम गंभीर को हिंदी और अंग्रेजी के साथ ही स्पैनिश भाषा की अच्छी समझ है. उनका ट्व‍िटर अकाउंट देखने तो पता चल जाता है कि अपनी बात रखने में उनकी कोई सानी नहीं है. उनको भारत-पाकिस्तान रिश्ते पर अच्छी समझ है. इसका एक बड़ा कारण ये है कि ईनम इससे पहले विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान डेस्क पर काम कर चुकी हैं.

पाक को ऐसे धोया

71वें सत्र की जनरल डिबेट में भारत के राइट टू रि‍प्लाई का इस्तेमाल करते हुए ईनम गंभीर ने सबको प्रभावित किया था. यूएन असेंबली में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाषण के कुछ घंटों बाद ही ईनम ने सभा में अपनी बात रखी थी. नवाज शरीफ की झूठी दलीलों को उन्होंने अपने तर्कों से मुंहतोड़ जवाब दिया था. इसकी पूरे दुनिया में चर्चा हुई थी.

advt
Back to top button