दिल्ली सरकार ने 21 साल कर दी शराब खरीदने और पीने की उम्र

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने सरकार द्वारा जारी शराब की दुकानों के आंकड़ों पर भी सवाल उठाए

नई दिल्ली: दिल्‍ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के नेतृत्व में एक मंत्री समूह ने आबकारी सुधार के तहत कई कदमों की सिफारिशें की है. इससे पहले दिल्‍ली सरकार ने अपनी नई शराब नीति के तहत शराब खरीदने और पीने की उम्र 25 साल से घटाकर 21 साल कर दी है.

मौजूदा समय में राष्ट्रीय राजधानी में होटलों और क्लबों में सिर्फ पेग में ही शराब दी जाती है. हालांकि मंत्री समूह ने अपनी रिपोर्ट में यह कहा है कि यह सुनिश्चित करना बार की जिम्मेदारी होगी कि कोई भी ग्राहक परोसी गई शराब की बोतल को उनके परिसर से बाहर न ले जा सकें.

बता दें कि दिल्‍ली शहर में 1000 से ज्यादा होटल, क्लब और रेस्तरां हैं, जिनके पास ग्राहकों को शराब परोसने का आबकारी लाइसेंस है.

सरकार ने घटाई शराब पीने की उम्र

इससे पहले दिल्‍ली सरकार ने दिल्ली सरकार ने शराब पीने की उम्र 25 साल से घटाकर 21 साल करने का फैसला किया था जिसका विरोध हो रहा है. कांग्रेस नेता अलका लांबा ने सरकार द्वारा जारी शराब की दुकानों के आंकड़ों पर भी सवाल उठाए.

लांबा ने कहा कि ‘दिल्ली दिल्ली में 850 जगहों पर शराब बेचने और पीने का लाइसेंस दिया गया है जो पूरी तरह गलत है. दिल्ली सरकार की वेबसाइट के मुताबिक, शहर में 850 नहीं बल्कि 1845 जगहों पर शराब बेचने और पीने का लाइसेंस दिया है.

दिल्ली सरकार ने शराब की दुकानों को बंद करने के बजाए उनका निजीकरण करने का फैसला किया है. लेकिन यहां भी एक बड़ा खेल है. जो बड़े-बड़े उद्योगपति शराब की दुकानों का ठेका लेंगे, उन्होंने सरकार के सामने कई शर्ते रखी थी.

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने अपनी नई शराब नीति की घोषणा की है जिसमें शराब खरीदने और पीने की उम्र 25 साल से घटाकर 21 साल कर दी गयी. साथ ही ऐलान किया गया कि सरकार अब शराब की दुकान नहीं चलाएगी. अपनी 60 फीसदी शराब की दुकानों का निजीकरण करेगी.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button