दिल्ली: एप आधारित एसी बसें चलाने पर हो रहा विचार

जिस नीति पर चर्चा की गई है, उसमें निजी ऑपरेटरों को राज्य स्तर का परमिट दिया जा सकता है

दिल्ली: एप आधारित एसी बसें चलाने पर हो रहा विचार

दिल्ली परिवहन विभाग सार्वजनिक बसों की किल्लत को पूरा करने के लिए निजी ऑपरेटरों के जरिए एप आधारित वातानुकूलित बसें चलाने की नीति पर विचार कर रहा है.

सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि विभाग और बसें प्राप्त करने के लिए हर तरह से प्रयास कर रहा है. मौजूदा क्लस्टर योजना की तर्ज पर निजी ऑपरेटरों के जरिए वातानुकूलित बसों को चलाने का विचार है.

उन्होंने कहा, ‘इस संबंध में एक नीति पर हाल में चर्चा की गई है और कई दौर की बैठकें भी हुई हैं. ऐसी उम्मीद है कि निकट भविष्य में नीति को अंतिम रूप दे दिया जाए.’

क्लस्टर योजना के तहत, दिल्ली इंटिग्रेटेड मल्टी मॉडल सिस्टम (डिम्टस) निजी कंपनियों के मार्फत 16,50 स्टैंडर्ड लो फ्लोर बसों का संचालन करता है.

निजी ऑपरेटरों को मिलेगा राज्य स्तर का परमिट

अधिकारी ने बताया कि जिस नीति पर चर्चा की गई है, उसमें निजी ऑपरेटरों को राज्य स्तर का परमिट दिया जा सकता है. यानी वो जो बसें चलाएंगे, वे निर्धारित रूट के स्टॉप से यात्रियों को ले सकेंगी एवं छोड़ सकेंगी.

उन्होंने कहा कि जिस नीति पर विचार किया जा रहा है, उसके तहत विभाग क्लस्टर, मार्ग और समय तय करेगा जबकि निजी साझेदार बसों और स्टाफ को देखेंगे.

उन्होंने कहा कि नीति संभवत: सभी प्रकार की वातानुकूलित बसों को इजाजत दे सकती है लेकिन उनका किराया डीटीसी और क्लस्टर बसों से अधिक होगा.

advt
Back to top button