राष्ट्रीय

दिल्‍ली मेट्रो में धरना-प्रदर्शन करने या मेट्रो रेल को रोकने की कोशिश पर जेल हो सकती है

दिल्‍ली मेट्रो परिसर में धरना-प्रदर्शन करने या किसी भी तरह से चलती मेट्रो रेल को रोकने की कोशिश करने पर जेल भी हो सकती है

दिल्‍ली मेट्रो परिसर में धरना-प्रदर्शन करने या किसी भी तरह से चलती मेट्रो रेल को रोकने की कोशिश करने पर जेल भी हो सकती है. इसके साथ ही भारी जुर्माना भी भरना पड़ सकता है. इसके लिए केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय ने विधेयक कानून मंत्रालय को भेज दिया है.

दिल्‍ली मेट्रो को सुरक्षित और नियमबद्ध बनाने के लिए कानूनों में परिवर्तन करने के साथ ही जुर्माने को बढ़ाने का प्रावधान करने की कोशिश चल रही है. लाॅ मिनिस्‍ट्री को भेजे गए इस विधेयक में बताया गया है कि मेट्रो परिसर में प्रदर्शन करने पर 15 हजार रुपये का फाइन और 6 महीने की जेल हो सकती है.

इसके साथ ही मेट्रो के परिचालन में बाधा पहुंचाने पर 50 हजार रुपये का फाइन और चार साल तक की जेल हो सकती है. विधेयक में ट्रेसपासिंग और महिला कोच में 12 साल से अधिक उम्र के लोगों के चढ़ने पर भी 5-10 हजार रुपये जुर्माना और 6 महीने की जेल का प्रावधान रखा है.

हालांकि लॉ मिनिस्‍ट्री की अोर से बिल को हरी झंडी मिलने के बाद केबिनेट के पास भेजा जाएगा. जहां से पास होने के बाद विधेयक को सदन में रखा जाएगा.

वहीं मेट्रो में बंदूक रखकर ले जाने और उसके किसी की हत्‍या का कारण बनने पर सजा ए मौत का भी नियम इस बिल में रखा गया है.

Tags
Back to top button