10 से 20 अक्टूबर तक किया जाएगा दिल्ली ओलम्पिक खेलों का आगाज

15000 खिलाड़ी 41 खेलों में कुल 3000 पदकों के लिए करेंगे जोर आजमाईश

नई दिल्ली :

दिल्ली ओलम्पिक गेम्स-2018 का आयोजन दिल्ली ओलम्पिक संघ द्वारा कराया जा रहा है। यह दिल्ली ओलम्पिक गेम्स-2018 10 से 20 अक्टूबर तक किया जाएगा। जिसे राजधानी के 30 खेल स्थलों पर किया जाएगा । जिसमें रिकॉर्ड 15000 खिलाड़ी 41 खेलों में कुल 3000 पदकों के लिए जोर आजमाईश करेंगे।

यह दिल्ली ओलम्पिक खेलों का दूसरा संस्करण है। पहला संस्करण 2015 में आयोजित हुआ था जिसमें 12000 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था। लेकिन इस बार 15000 खिलाड़ी हिस्सा लेने जा रहे हैं और इन खेलों में गोल्ड, सिल्वर और ब्रॉन्ज सहित कुल 3000 मेडल दांव पर होंगे।

दिल्ली ओलम्पिक संघ के अध्यक्ष कुलदीप वत्स ने मंगलवार को बताया कि बुधवार को तालकटोरा इंडोर स्टेडियम में इन खेलों का उद्घाटन समारोह होगा और केंद्रीय विज्ञान एवं तकनीक तथा पयार्वरण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, सांसद

एवं दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी और विधायक मनजिंदर सिरसा उद्घाटन समारोह में मौजूद रहेंगे। उन्होंने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने 20 अक्टूबर को इसी स्टेडियम में होने वाले समापन समारोह में आने की पुष्टि कर दी है।

न्यूज एजेंसी वार्ता के अनुसार, उन्होंने बताया कि दो बार के ओलम्पिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार और लंदन ओलम्पिक के पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त भी उद्घाटन समारोह में मौजूद रहेंगे। वत्स ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति में भारत के पूर्व सदस्य राजा रणधीर सिंह भी इस अवसर पर मौजूद रहेंगे।

इन स्टेडियमों में होंगे खेल

वत्स ने बताया कि इस बार 30 स्थानों पर 41 खेलों का आयोजन होगा। उन्होंने बताया कि इन खेलों का जिन स्टेडियमों में आयोजन होगा उनमें छत्रसाल स्टेडियम, राजीव गांधी स्टेडियम बवाना, त्यागराज स्टेडियम, आईजी स्टेडियम का साइक्लिंग वेलोड्रोम और मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम प्रमुख हैं।

प्रदीप वत्स को आयोजन समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। दिल्ली ओलम्पिक संघ के उपाध्यक्ष सागर धवन ने इन खेलों के सफल आयोजन के लिए अपना पूरा योगदान दिया है। कुलदीप वत्स ने बताया कि इन खेलों के आयोजन का इंतजाम उन्होंने निजी प्रायोजकों के दम पर किया है। इन प्रायोजकों में ग्लोबल प्लाई और धवन ज्वेलर्स शामिल हैं।

Back to top button