दिल्ली को नहीं मिली राहत, तापमान हुआ 42.5 डिग्री सेल्सियस

मौसम विभाग ने जल्द राहत मिलने की संभावनाओं को खारिज कर दिया।

नई दिल्ली :दिल्ली की जहरीली हवाओं से अभी भी नहीं मिली राहत, तापमान ने 42.5 डिग्री सेल्सियस के आंकड़े को छू लिया जो मौसम के औसत तापमान से चार अधिक है। मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि कई स्थानों पर पारा 44 डिग्री सेल्सियस पर भी पहुंच गया।

उन्होंने इससे जल्द राहत मिलने की संभावनाओं को खारिज कर दिया। पड़ोसी उत्तर प्रदेश और पश्चिमी राजस्थान में लू के चलते राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में भी लू जैसी परिस्थितियां देखीं गईं। शुक्रवार को पालम में 44.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम के औसत तापमान से छह डिग्री ज्यादा है।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दिल्ली का औसत तापमान शनिवार को बढ़कर 43 डिग्री सेल्सियस तक होने की संभावना है। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मौसम के औसत तापमान से दो डिग्री ज्यादा है।

मौसम विभाग की निजी एजेंसी स्काईमेट ने कहा कि अब सबसे पहले राहत मिलने की उम्मीद गुरुवार 28 जून को है जब बारिश हो सकती है। स्काईमेट के निदेशक महेश रावत ने कहा, “तापमान में उल्लेखनीय गिरावट 28 जून के बाद ही होगी जब एनसीआर में मानसून पूर्व की बारिश होगी।”

शुक्रवार को दिल्ली के पठारी क्षेत्र में उच्चतम तापमान 44.5, आयानगर में 44.4, नरेला में 43.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गुरुग्राम और फरीदाबाद में उच्चतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

दिल्ली में पश्चिमी और दक्षिण-पश्चिमी हवाओं के कारण कण प्रदूषण में फिर वृद्धि हो गई जिससे शुक्रवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता खराब हो गई। राष्ट्रीय राजधानी में 30 निगरानी स्टेशनों पर आधारित गणना के अनुसार शुक्रवार को पीएम10 या 10 माइक्रोन व्यास वाले कणों के साथ वायु गुणवत्ता सूचकांक 236 (खराब) रहा।

शुक्रवार को आद्र्रता 22-52 फीसदी के बीच रही। गुरुवार को अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो औसत तापमान से तीन डिग्री ज्यादा था जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा 30.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

new jindal advt tree advt
Back to top button