क्राइमराज्यराष्ट्रीय

दिल्ली दंगा: 11 घंटे की पूछताछ के बाद उमर ख़ालिद गिरफ्तार

नई दिल्ली दिल्ली दंगों को लेकर बीते 6 मार्च को दर्ज FIR जिसका क्राईम नंबर 59 हैं, उसमें बतौर अभियुक्त पहले स्थान पर दर्ज उमर ख़ालिद को दिल्ली पुलिस ने क़रीब 11 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ़्तार कर लिया है।दंगों को लेकर दर्ज FIR में यूएपीए की धाराओं का हवाला है, उमर ख़ालिद को अन लॉ फूल प्रिवेंशन एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ़्तार किया गया है।

दिल्ली पुलिस का आरोप है कि उमर ख़ालिद ने अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फ़रवरी में संपन्न हुई भारत यात्रा के दौरान भारत की ग़लत छवि पेश करने की नियत से दंगों की साज़िश की।

हालांकि इसके लिए उमर ख़ालिद के जिस भाषण को लेकर यह मामला क़ायम किया गया है, उसे लेकर गंभीर तथ्यात्मक सवाल खड़े किए गए हैं। हालाँकि कथित दक्षिण पंथी समर्थक उमर ख़ालिद का जिक्र “टूकडे टूकड़े गैंग” यहाँ तक कि “देशद्रोही” के रुप में करते हैं, जिसे लेकर उमर ख़ालिद का कई बार यह बयान आया है कि मीडिया के एक वर्ग ने ऐसी छवि गढ़ी है जिसकी वजह से वे लगातार कुछ लोगों की नफ़रत का शिकार होते रहे हैं।

बहरहाल जो बयान उमर ख़ालिद के लिए मुसीबत का सबब बना है वह बयान सत्रह फ़रवरी को अमरावती में दिया गया था।इ स बयान में कथित तौर पर उमर ख़ालिद ने कहा –
“डोनाल्ड ट्रंप के आने के बाद हम दुनिया को बताएँगे कि हिंदुस्तान की सरकार जनता के साथ क्या कर रही है.. मैं आप सबसे अपील करता हूँ कि देश के हुक्मरानों के ख़िलाफ़ बाहर निकलिए”

दिल्ली दंगों की गूंज जबकि देश की संसद में गूंजी तब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भाषण के इस अंश को पढते हुए सदन को कहा –“17 फ़रवरी को इस भाषण के बाद 23-24 फ़रवरी को दिल्ली में दंगा हो गया”

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button