दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने ईडी को रतुल पुरी से पूछताछ की इजाजत दी

कंपनी से जुड़े कई राज का किया पर्दाफाश

नई दिल्ली: 3,600 करोड़ रुपये के अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकॉप्टर घोटाले में आरोपी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में 20 अगस्त से गिरफ्तार जेल में बंद रतुल पुरी से प्रवर्तन निदेशालय (ED) को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट से पूछताछ की इजाजत मिली.

रतुल पुरी के वकील ने कहा कि उन्हें (रतुल पुरी) ईडी की पूछताछ पर कोई आपत्ति नहीं है और इसमें पूरा सहयोग करेंगे. एमपी के सीएम कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी से अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग केस में तीन दिन तक पूछताछ होगी. फिलहाल रतुल पुरी तिहाड़ जेल में बंद हैं. अदालत में ईडी की तरफ से कहा गया था कि इस मामले में एक गवाह को खतरा है जो प्रभावित हो सकता है.

इससे पहले अमेरिका के एक नाइट क्लब में एक ही रात में करीब 8 करोड़ रुपये खर्च करने के मामले में ईडी ने पुरी को शक के दायरे में लिया था. साथ ही उनके खिलाफ चार्जशीट दायर की थी. दिल्ली हाईकोर्ट में ईडी ने 110 पेज की चार्जशीट में मोजर बीयर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी से जुड़े कई राज का पर्दाफाश किया. प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत को बताया कि कंपनी ने अपनी एसोसिएट कंपनियों में 8 हजार करोड़ का निवेश किया है, जो मनी लांड्रिंग के कानूनों के खिलाफ पाया गया है.

कर्ज की राशि ट्रांसफर करना ईडी को खटक रहा

कंपनी ने अपने नाम पर लिए गए कर्जों को अपनी सहयोगी बैंकों को ट्रांसफर कर और मुसीबत मोल ली है. दर्जनों सब्सि़डरी खाताधारकों पर कर्ज की राशि को ट्रांसफर किया जाना ईडी को खटक रहा है. रतुल पुरी पहले से अगस्ता वेस्टलैंड मामले में जेल में हैं. फिलहाल ईडी उनके सारे लेनदेन और कंपनी के साथ-साथ उनके भी अकाउंट्स खंगाल रही है. इसी दौरान पुरी के राजसी ठाटबाट में खर्च की गई राशि का ब्योरा उनके हाथ लग गया है.

वेरिफिकेशन के बाद पता चला कि रतुल पुरी ने 8 करोड़ रुपये अमेरिका के किसी क्लब में खर्च किए. इसके अलावा नवंबर 2011 से अक्टूबर 2016 के बीच रतुल पुरी ने खुद की रईसी में तकरीबन 32 करोड़ रुपये झोंक डाले. उनपर लगातार मोजर बीयर कंपनी के डायरेक्टरों और प्रोमोटरों ने कंपनी के व्यवसायिक पैसों को खुद के ऊपर खर्च करने का आरोप लगाया है. उन्होंने यह भी कहा कि पुरी बैंक से लिए गए कर्ज की राशि को भी अपने ठाठबाट पर खर्च करते आए हैं.

Back to top button