छत्तीसगढ़

महतारी एक्सप्रेस में ही करा दी महिंला की डिलीवरी, स्वास्थ्य केंद्र में लगा था ताला

प्रकाश यादव:

भटगांव: बलौदाबाजार जिला में अस्पताल प्रबंधन के समय पर उपस्थित नही होने व लापरवाही तथा ईलाज के अभाव में गर्भवती महिलाओं को प्रसव पीड़ा के चलते महतारी एक्सप्रेस जैसे वाहनों में बच्चों को जन्म दे रही है जो शिलशिला थमने का नाम नही ले रहा है।

ताजा मामला नगर पंचायत भटगांव में देखने को मिला, जहां सुबह तकरीबन 8 बजे के आसपास घाना के रहने वाली गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा हुई, महिला के परिजन 102 महतारी एक्सप्रेस को फोन कर घर बुलाया, महतारी एक्सप्रेस के घर पहुँचते तक महिला की प्रसव पीड़ा और बढ़ने लगा उन्हें तत्काल 102 महतारी एक्सप्रेस में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भटगांव लाया गया।

102 में मौजूद डॉक्टर ने महिला की स्थिति देखते हुए रस्ते में ही ईलाज करना शुरू कर दिया और इसकी जानकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भटगांव में पदस्थ डॉक्टर और नर्स को दी परंतु नर्स द्वारा उनको नाईट डियूटी होने का हवाला देकर दूसरे नर्स को बुलाने बोला गया, तब तक और महिला की प्रसव पीड़ा बढ़ने लगा।

महतारी एक्सप्रेस के पहुँचने से पहले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भटगांव में ताला लगा हुआ था। जिससे गर्भवती महिला की पीड़ा को देखते हुए 102 में मौजूद डॉक्टर ने मजबूरन महतारी एक्सप्रेस में ही महिंला कि डिलीवरी/जचकी कराए और फिर महिंला ने एक बच्ची को जन्म दिया जिसके बाद अस्पताल के कर्मचारी अस्पताल पहुंचा और जच्चा-बच्चा दोनों को हॉस्पिटल के अंदर ले गए और दोनों का इलाज करना शुरू किया।

Tags
Back to top button