बैंकिंग सेक्टर में 5 कार्य दिवस की मांग, कभी भी लग सकती है मुहर

बैंकों में अब सभी शनिवार और रविवार रहेगी छुट्टी

नई दिल्ली:बैंकों में अब सभी शनिवार और रविवार छुट्टी रहेगी. हालांकि, अभी यह सिर्फ प्रस्ताव है. लेकिन, अगर यह हकीकत बनता है तो बैंकर्स को जल्‍द अपने हेक्टिक शेड्यूल से राहत मिल सकती है.

मीडिया रिपोर्ट में दावा है कि बैंकों में भी 5 डे वीक का टाइमटेबल लागू हो सकता है. शनिवार और रविवार को बैंक बंद रहेंगे. मौजूदा समय में बैंक महीने के सभी रविवार के अलावा दूसरे व चौथे शनिवार को बंद रहते हैं.

यही नहीं बैंक कर्मचारियों की सैलरी में भी जल्द इजाफा हो सकता है. सहयोगी वेबसाइट जी बिजनेस में प्रकाशित खबर के अनुसार फाइनेंस मिनिस्‍ट्री में बैंकों में पांच कार्य दिवस लागू करने पर विचार चल रहा है.

मिनिस्‍ट्री ने बैंकों की एसोसिएशन इंडियन बैंक्स असोसिएशन (IBA) से कहा है कि वह बैंकर्स से बात कर उनकी मांगों को समझे और उस पर अपनी राय दे. सूत्रों के मुताबिक, यह बैठक नवंबर में होगी. इस संबंध में हाल में एक बैठक हुई थी. इसमें फाइनेंस मिनिस्‍ट्री को अपना स्‍टैंड क्‍लीयर करना था. सबकुछ ठीक रहा तो बैंकर्स और सरकार के बीच समझौता हो सकता है.

बैंकर्स की डिमांड

1. सैलरी में रिवीजन की मांग

बैंकरों को भी केंद्रीय कर्मचारियों को मिल रहा 7वां वेतन आयोग चाहिए. कर्मचारी सैलरी में 14% बढ़ोतरी चाहते हैं.

2. GST हटाने की मांग

सीनियर सिटीजन का ग्रुप हेल्‍थ इंश्‍योरेंस प्रीमियम पर GST हटे. करीब 1.5 लाख रिटायर बैंकर इसका लाभ ले रहे हैं.

3. पेंशन बढ़ाने पर जोर

PSU बैंक के कर्मचारी पेंशन बढ़ाने की भी मांग कर रहे हैं. आरोप है कि कर्मचारियों की पेंशन 1996 से नहीं बढ़ी है.

4. मर्जर का विरोध

बैंक यूनियन बड़े बैंकों में छोटे बैंकों के विलय का भी विरोध कर रही हैं. आपको बता दे कि बैंक कर्मचारी केंद्र में 7वां वेतन आयोग लगने के बाद से ही सैलरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं. IBA ने सैलरी में 2% बढ़ोतरी की बात कही थी, जिसे बैंक यूनियन ने ठुकरा दिया. वे 25% सैलरी हाइक की मांग कर रहे थे, लेकिन अब 14% बढ़ोतरी की डिमांड कर रहे हैं.

Back to top button