लॉकडाउन के बाद से चाइल्ड पोर्नोग्राफी सामग्री की मांग में आई बहुत तेजी : रिपोर्ट

भारत बाल संरक्षण कोष ने जारी की एक रिपोर्ट

नई दिल्ली: लॉकडाउन के बाद से चाइल्ड पोर्नोग्राफी सामग्री की मांग में बहुत तेजी आई है. भारत बाल संरक्षण कोष (आईसीपीएफ) की रिपोर्ट की माने तो बच्चों के संबंध में ‘हिंसक सामग्री’ की मांग में 200 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

आईसीपीएफ की ‘चाइल्ड सेक्सुअल एब्यूज मटेरियल इन इंडिया’ शीर्षक वाली एक रिपोर्ट के अनुसार, ” चाइल्ड पोर्नोग्राफी की मांग दिसंबर 2019 के दौरान पब्लिक वेब पर 100 शहरों में प्रति माह औसतन 5 मिलियन थी, जो कि अब बहुत बढ़ गई है.

आईसीपीएफ की रिपोर्ट में लिखा है, यह लॉकडाउन के दौरान भारत के बच्चों के सामने आने वाले चरम खतरे की एक ऐसी हकीकत पेश करता है, जो डरा देने वाली है. ऐसी यौन शोषण सामग्री को बच्चों को यौन शिकारियों के लिए अधिक संवेदनशील बनाती है.

Tags
Back to top button