घुमका क्षेत्र के लोगों ने की प्रधानपाठ बैराज से रूसे बांध को जोडऩे की माँग

कलेक्टर जनदर्शन में दिया आवेदन, ग्रामीणों की माँग का किया जाएगा परीक्षण

राजनांदगांव: घुमका क्षेत्र के लोगों ने आज कलेक्टर जनदर्शन में प्रधानपाठ बैराज से रूसे बांध को जोडऩे नाले के निर्माण की माँग रखी। घुमका क्षेत्र के लोगों ने संयुक्त कलेक्टर एमडी तिगाला को बताया कि पहले रूसे बांध से घुमका, चारभाठा, भदेरा, नवागांव, भालूकोन्हा, गोपालपुर, सलोनी, टेमरी, गिधवा तक सिंचाई होती थी, अभी केवल घुमका और गिधवा में इससे सिंचाई हो पाती है। तिगाला ने ग्रामीणों को बताया कि उनका आवेदन परीक्षण के लिए सिंचाई विभाग में भेजा जाएगा।

जनदर्शन में आज पेण्डरी के ग्रामीणों ने बताया कि राज्य सड़क विकास निगम द्वारा बनाई जा रही सड़क की वजह से लिफ्ट इरीगेशन क्षतिग्रस्त हुआ है। साथ ही उन्होंने सड़क के बगल से नाली बनाने की माँग की। ग्रामीणों ने कहा कि नाली नहीं बनने पर पानी बस्ती में चला जाएगा। जनदर्शन में अतरिया गाँव के लोग भी पहुँचे। उन्होंने बताया कि हाईस्कूल में संस्कृत, भौतिकी, गणित एवं वाणिज्य संकाय के शिक्षक नहीं हैं।

प्रधानपाठ
प्रधानपाठ

साथ ही उन्होंने बताया कि माध्यमिक शाला में भी शिक्षकों की कमी है। इसके अलावा उन्होंने हाईस्कूल में कृषि संकाय भी आरंभ करने की माँग की। अतरिया के ग्रामीणों ने बताया कि प्राइमरी हेल्थ सेंटर में नर्सों की कमी है। इसके चलते स्वास्थ्य सेवा प्रभावित हो रही है। ग्राम छछानपैरी के लोगों ने पेयजल की दिक्कत के बारे में बताया। इस पर पीएचई विभाग को दिक्कत दूर करने के लिए निर्देशित किया गया। इसी तरह डोंगरगढ़ ब्लाक के ग्राम बिच्छीटोला में भी पेयजल की दिक्कत ग्रामीणों ने रखी।

छुरिया तहसील के बखरूटोला गांव के ग्रामीणों ने जर्जर पुलिया के संबंध में अवगत कराया। उन्होंने जर्जर पुलिया की जगह नई पुलिया गाँव में बनाने की माँग की। जनदर्शन में ग्रामीणों ने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं नवीन राशन कार्ड से संबंधित आवेदन भी दिए। राशन कार्ड से संबंधित आवेदनों का मौके पर ही निराकरण कर दिया गया। पेयजल संबंधी आवेदनों के लिए पीएचई विभाग को त्वरित कार्रवाई कर अवगत कराने के निर्देश दिए गए।

पारिवारिक पेंशन की माँग-

मानपुर के एक आवेदक ने बताया कि उसके पिता मदनपुर स्कूल में शिक्षक थे, उनके गुजरने के पश्चात् माँ को अनुकंपा नियुक्ति मिली। अनुकंपा नियुक्ति मिलने के पश्चात माँ ने दूसरी शादी कर ली और दोनों बेटों को साथ रखने से इंकार कर दिया। अब वे दादी के पास रह रहे हैं। उन्होंने पारिवारिक पेंशन बेटों को देने की माँग की। प्रकरण को जिला शिक्षा अधिकारी को प्रेषित किया गया है।

Back to top button