दूध खरीदी की दर को बढ़ाने की मांग, दूध को नाले में बहाकर किया प्रदर्शन

गरियाबंद।

जिले में दुग्ध उत्पादक किसान दूध की वाजिब कीमत न मिलने से परेशान हैं। परेशान किसानों ने इसका विरोध जताते हुए दूध को नाले में बहा दिया। गौरतलब है कि जिले के देवभोग में सहकारी दुग्ध प्रोसेसिंग प्लान्ट भी स्थापित किया गया है और यहां बड़ी तादात में किसान दुग्ध उत्पादन से जुड़े हैं। किसानों का दूध 22 रुपए प्रति लीटर की दर से खरीदा जाता है, जो बेहद कम कीमत है।

किसान लंबे समय से दूध खरीदी की दर को बढ़ाने की मांग कर रहे हैं, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कुछ महीनों पहले भी यहां के किसानों ने इसी तरह दूध को नाले में बहाकर प्रदर्शन किया था। किसानों का कहना है कि दूध की सही कीमत नहीं मिल पा रही है।

इसके अलावा किसानों से पूरे की खरीदी भी नहीं की जा रही है, ऐसे में उनके पास दूध को बहाने के अलावा और कोई रास्ता ही नहीं है। किसानों का कहना है कि देवभोग कंपनी दुग्ध उत्पादों से ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाने की होड़ में लगी है और वे अपनी ही शर्तों पर किसानों से दूध की खरीदी करते हैं।

Back to top button