छत्तीसगढ़

7 से 8 महीने का बकाया वेतन भुगतान करने की मांग

रायपुर : आयुक्त-आयकर मुख्य कार्यालय, सेन्ट्रल रेवन्यू बिल्डिंग, सिविल लाइन रायपुर और ठेकेदार प्रबंधक की यहां नियुक्ति के लिए मेसर्स काल-मी सर्विस से 2012 में अनुबंध हुआ। अनुबंध के अनुसार इन जगहों पर प्लेसमेंट कर 50 से अधिक डाटा इंट्री आपरेटर, सुरक्षा गार्ड, प्यून और सफाईकर्मी की नियुक्ति की गई थी। कुछ दिन बाद ठेकेदार ने इन कर्मचारियों वेतन का भुगतान नहीं किया। इसके लिए उन्होंने उपमुख्य श्रमायुक्त और कलेक्टर से इसकी शिकायत भी की थी। उक्त बातें ठेका मजदूर संघ के महामंत्री बाल्मिकी सिंह ने आज प्रेसवार्ता में कही।
उन्होंने कहा कि, कॉल मी सर्विस में प्लेसमेंट कर भिलाई नगर, धमतरी, कांकेर और रायपुर से डाटा एन्ट्री, सुरक्षा गार्ड, प्यून कार्य के लिए नियुक्ति की गई थी। उन कर्मचारियों से काम लिया, लेकिन ठेकेदार ने अक्टूबर 2016 से 31 अगस्त 2017 तक 7 से 8 महीने वेतन का भुगतान नहीं किया। समस्त कार्यालयों में पदस्थ डाटा एन्ट्री ऑपरेटरों को काम से निकाल भी दिया गया। इसके लिए उन्होंने उपमुख्य श्रमायुक्त से शिकायत की और साथ ही प्रधानमंत्री को स्पीड पोस्ट के माध्यम से भी शिकायत की। इसके बाद उन्हें आश्वासन मिला की शीघ्र ही कार्रवाई की जाएगी।
संघ के अध्यक्ष विष्णु चन्द्राकर और सदस्य केवल साहू, सतीश गोयल आदि सदस्य ने चेतावनी दी कि, प्रकरण पर उच्च स्तरीय जांच की जाएं। यदि उचित कार्रवाई नहीं होगी तो वे आयकर मुख्य कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन भी करेंगे।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.