विदेशों में बढ़ी भारतीय मिसाइलों की मांग, कई देशों ने अपने बेड़े में शामिल करने की जताई इच्छा

नई दिल्ली : भारत लगातार रक्षा के मामलों में अपनी ताकत में इजाफा कर रहा है। भारत सरकार मेक इन इंडिया के तहत घरेलू रक्षा उत्पादों पर तेजी से काम कर रही है। भारत की तेज तर्रार स्वदेशी मिसाइलों पर दुनियाभर के देशों की नजर है। शुक्रवार को रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कई देशों ने भारत की मिसाइलों को अपने बेड़े में शामिल करने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा कि भारत के पास घरेलू रक्षा उत्पादों की बिक्री के लिए प्रयाप्ता निर्यात क्षमता है।

विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि आज कई देशों द्वारा भारतीय मिसाइलों की मांग की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘मैं ये बताना चाहतीं हूं कि हमारे पास भारतीय सशस्त्र बलों के अलावा भी एक बाजार मौजूद है, जो भारत में बने रक्षा उत्पादों को खरीदने का इच्छुक है।

रक्षा मंत्री ने कहा कि बहुत सारे देश भारत के साथ कई प्रकार के जुड़ाव रखने के इच्छुक हैं और खरीदारी करना चाहते हैं। भारत के पास विभिन्न उपकरणों के निर्यातक होने की अपार संभावनाएं हैं। रक्षा मंत्री ने कहा,’ मैं यहां तक भी कह सकती हूं कि भारत के पास एक युद्धपोत निर्माण करने की क्षमता भी है। दुनियां भारत की इस क्षमता को बहुत अच्छी तरह से जानती है। कई देश हैं जो कह रहे हैं, हमें वह क्षमता देने में हमारी मदद करें।

Back to top button