97 करोड़ के पुराने नोट रखने के आरोपितों को वकीलों ने पीटा, फेंकी स्याही

रिमांड पर सुनवाई सोमवार को सीएमएम शबिस्ता आकिल की कोर्ट में चल रही थी

97 करोड़ के पुराने नोट रखने के आरोपितों को वकीलों ने पीटा, फेंकी स्याही

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में 97 करोड़ के पुराने नोट रखने के मामले में आरोपितों का वकीलों ने मुंह काला किया। आरोपितों को पुलिस कोर्ट से रिमांड पर ले जा रही थी इसी दौरान वकीलों ने उन पर हमला बोल दिया। आरोपितों की पिटाई करने के साथ उनके चेहरे पर स्याही फेंकी गई। बाद में मौके पर पहुंचे बार असोसिएशन के महामंत्री की मदद से पुलिस आरोपितों को ले जा सकी।
[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
कानपुर में स्वरूप नगर थानांतर्गत कारोबारियों के पास से 97 करोड़ रुपये के पुराने नोट बरामद किए थे। पुलिस ने इस मामले में 16 आरोपितों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके जेल भेज दिया था। मामले में विवेचना कर रहे सीओ कर्नलगंज राजेश पाण्डेय ने कोर्ट से 16 आरोपितों में से 10 की रिमांड मांगी थी।

रिमांड पर सुनवाई सोमवार को सीएमएम शबिस्ता आकिल की कोर्ट में चल रही थी। पुलिस ने जिन आरोपितों आनंद खत्री, संजय कुमार, अनिल यादव, संजय कुमार सिंह, संजीव अग्रवाल, मनीष अग्रवाल, कुटेश्वर राव, अली हुसैन, संतोष कुमार यादव और मोहित ढिंगरा की रिमांड मांगी थी उन्हें पेशी पर कोर्ट लाया गया था। कोर्ट ने विवेचक की अर्जी स्वीकार करते हुए आरोपितों की रिमांड दे दी।

कोर्ट से मंजूरी के बाद पुलिस आरोपितों को कोर्ट के बाहर लेकर आई। जैसे ही आरोपित बाहर आए वहां खड़े दर्जनों वकील आरोपितों पर टूट पड़े। आरोपितों को देशद्रोही + बताते हुए वकीलों ने नारेबाजी की ओर उनके चेहरे पर स्याही फेंक दी। पुलिस ने आरोपितों को बचाने के लिए वापस कोर्ट में चली गई लेकिन वकील बाहर खड़े होकर फिर से आरोपितों के बाहर आने का इंतजार करने लगे।

सीओ ने एसएसपी को सूचना दी और मौके पर अतिरिक्त पुलिस फोर्स भेजने को कहा। अतिरिक्त पुलिस फोर्स ने पहुंचकर कोर्ट परिसर के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी। इधर बार एसोसिएशन महामंत्री भानु प्रताप सिंह ने वकीलों को वहां से हटाया जिसके बाद आरोपितों को रिमांड पर ले जाया जा सका।

advt
Back to top button